मवई(अयोध्या):दो दो मासूमों का शव पहुंचते ही हुनहुना गांव में मचा कोहराम।

बुधवार की शाम गांव के समीप स्थित कब्रिस्तान में हुआ अंतिम संस्कार।

मंगलवार की शाम एक आटा चक्की हादसे में असमय काल के गाल में समा गए दो मासूम।

अयोध्या ! मवई थाना अंतर्गत ग्राम हुनहुना में मंगलवार की शाम हुए एक आटा चक्की हादसे में दो दो मासूम बालक असमय काल के गाल में समा गए।बुधवार की दोपहर बाद जैसे ही दोनों मासूमों का शव गांव पहुंचा।तो परिजनों रिस्तेदारों सहित पूरे गांव में कोहराम मच गया।अपने दिल पर पत्थर रख किसी तरह परिजनों व ग्रामीणों ने नम आंखों के बीच दोनों मासूम बच्चों का अंतिम संस्कार किया।
बता दे मंगलवार की शाम करीब पौने छः बजे ट्रैक्टर द्वारा संचालित एक आटा चक्की का अचानक पत्थर फट गया।जिसकी चपेट में आकर आशिफ पुत्र हसीब उम्र 12 वर्ष की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।जबकि इस हादसे में एक पत्थर का टुकड़ा छिटककर पास में खड़े सात वर्षीय मासूम अब्दुल्ला पुत्र वसीम के सर पर लग गया था।जिससे वो गंभीर रूप से घायल हो गया था।परिजन आनन फानन उसे प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया।जहां उपचार के दौरान बुधवार को इसकी भी मौत हो गई।बुधवार की दोपहर दस मिनट के अंतराल में दोनों मासूमों का शव हुनहुना गांव पहुंचा।तो परिजनों व रिस्तेदारों का कोहराम मच गया।इनके करुण क्रंदन से मानों पूरे वातावरण में दुःख के बादल मंडराने लगे।हर किसी के आंखों से आंसू छलक पड़े।हर कोई ऊपर वाले से इस असहनीय दुःख को बर्दास्त करने के लिये ऊपर से दुआ करता दिखा।

आटा चक्की हादसे में घायल दूसरे मासूम की भी मौत।

मवई ! मवई थाना अंतर्गत हुनहुना गांव में मंगलवार की शाम एक आटा चक्की के पत्थर फटने से पास में खड़े आधा दर्जन बच्चे घायल हो गए थे।हादसे में गंभीर रूप से घायल एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई थी।जबकि एक को प्राथमिक उपचार के बाद ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर किया गया था।जिसकी बुधवार की दोपहर उपचार के दौरान मौत हो गई।शेष चार अन्य घायलों में से अब भी एक कि हालत चिंताजनक बताई जा रही है।घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची।
बता दे हुनहुना गांव में विगत कई दिनों से एक ट्रैक्टर द्वारा संचालित आटा चक्की आई थी।जो गांव में लोगों के गेहूं पीसने का काम कर रही थी।मंगलवार की शाम करीब पौने छः बजे चक्की का अचानक पत्थर फट गया।जिसकी चपेट में आकर आशिफ पुत्र हसीब उम्र 12 वर्ष की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।जबकि इस घटना में पत्थर की चपेट में सात वर्षीय मासूम अब्दुल्ला पुत्र वसीम गंभीर रूप से घायल हो गया।जिसे प्राथमिक उपचार के बाद ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया।जिसकी बुधवार की दोपहर उपचार के दौरान मौत हो गई।इसके अलावा इस दुर्घटना में सुनील पुत्र चंद्रशेखर,कामरान पुत्र रिजवान,अकरम व मुकेश घायल हो गए थे।जिसमें सुनील की हालत अब भी चिंताजनक बताई जा रही है।सुनील का उपचार बाराबंकी के एक निजी नर्सिंग होम में चल रहा है।मवई थाने के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि चक्की खराब थी।जिसे बनवाने के बाद उसका स्वामी टेस्ट कर रहा था।इस दौरान अचानक चक्की का पत्थर फट गया।जिसकी चपेट में आये आधा दर्जन बच्चों में से आसिफ की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी।जबकि अब्दुल्ला की उपचार के दौरान ट्रामा सेंटर में मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News