सपा प्रमुख अखिलेश यादव का बयान…गन्ना किसानों के साथ हो रहा धोखा


लखनऊ। उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार पर गन्ना किसानों से धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि समय से चीनी मिलें न चलने से खेतों में खड़ा गन्ना सूख रहा है, जिससे किसान बेहद परेशान हैं। श्री यादव ने यहां जारी ज्ञापन में कहा कि राज्य सरकार ने नवम्बर के अंत तक चीनी मिलों में पेराई शुरू करने की समय सीमा निर्धारित की थी। समय सीमा समाप्त होने के बाद भी अभी सभी चीनी मिलों में पेराई शुरू नहीं हुई है। एक वर्ष के भीतर लागत में भारी बढ़ोत्तरी होने के बावजूद गन्ने के समर्थन मूल्य में बढ़ोत्तरी न होने से किसान हताश है। सिंचाई के लिए डीजल में 28 प्रतिशत, विद्युत दरों में 3० प्रतिशत, कीटनाशकों के मूल्य में 3० प्रतिशत, डीएपी में 1० प्रतिशत एवं मजदूरी में 1० प्रतिशत तक वृद्धि होने से गन्ने के लागत मूल्य में 15-2० प्रतिशत की वृद्धि हुई है, लेकिन भाजपा सरकार नेे वर्ष 2०18-19 के लिए गन्ने के राज्य परामर्शी मूल्य में कोई वृद्धि नहीं की है। उन्होंने कहा कि गन्ना शोध केन्द्र, शाहजहांपुर के अनुसार गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष गन्ने की लागत मूल्य में आठ रूपया प्रति कुंतल वृद्धि हुई है तथा लागत मूल्य 297 रूपया प्रति कुंतल हो गया है। भाजपा की गलत नीतियों के चलते 5० लाख गन्ना किसानों को करोड़ों रूपये की क्षति उठानी पड़ी हैं। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार ने दिखावे और किसानों को बहकाने के लिए 44 चीनी मिलों को 2619 करोड़ रूपए के साफ्ट लोन का भुगतान किया है। किसानों को इससे कोई फायदा पहुंचने वाला नहीं है। सच तो यही है कि भाजपा को किसानों की नहीं चीनी मिल मालिकों के हितों की चिंता है। उसकी नीतियां ही पूंजी घरानों की पक्षपाती हैं। उन्होने कहा कि चीनी मिल मालिकों ने राज्य सरकार के निर्देशों को बार-बार ठेंगा दिखाया है फिर भी भाजपा सरकार उन्हीं के मान मनौव्वल पर तुली है। किसानों का यह आक्रोश सन् 2०19 में भाजपा के खिलाफ विस्फोट का रूप ले लेगा, जिसमें भाजपा नहीं बच पायेगी।

http://www.royalbulletin.com/category/national-news/–123007

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News