व्यापारी पर हमले के विरोध में व्यापारियों ने लगाए मुर्दाबाद के नारे,पटरंगा पुलिस की कार्यशैली से नाराज हुए व्यापारियों ने लिंक मार्ग को किया जाम..जाने पूरा मामला।

माहौल और विगड़ता इससे पूर्व सीओ व एसडीएम ने मौके पर पहुंच व्यापारियों को समझा स्थिति को संभाला।

मवई(अयोध्या) ! पटरंगा थाना क्षेत्र के रानीमऊ में शुक्रवार की देर शाम एक चाट मटर व्यापारी पर हमले के बाद पुलिसिया कार्रवाई से नाराज व्यापारियों ने शनिवार की सुबह लिंक मार्ग को जाम कर पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए।लगभग छः घंटे तक चले प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने हमले के मुख्य आरोपी को लखनऊ एयर पोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।काफी मान मनौव्वल के बाद दोपहर लगभग एक बजे डीएम एसएसपी के आश्वासन के बाद व्यापारियों का प्रदर्शन समाप्त हुआ।

बता दे कि रानीमऊ चौराहा निवासी रामफेर पुत्र राम अनंत गुप्ता रानीमऊ- कुशहरी मार्ग पर चाट मटर की दुकान लगाता है।उसके इस व्यवसाय में भतीजा चंद्र प्रकाश गुप्त भी मदद करता है।गुरुवार की शाम बाराबंकी जिले के असंदरा थाना अन्तर्गत मोहम्मद नगर निवासी शिब्बू अपने पांच अन्य साथियों के साथ पीड़ित की दुकान पर पहुंच पानी बतासा खाया।पैसा शिब्बू के साथी जफर ने दे दिया।शिब्बू अपने दोस्तों को छोड़ वापस चाट मटर की दुकान पर आए।दुकानदार चंद्र प्रकाश गुप्त बताया शिब्बू दुकान पर आया और गाली देतेे हुए कहा कि तुमने मेरे दोस्त से पैसा क्यो लिया।व्यवसायी ने जब इसकी शिकायत करने शिब्बू के रिस्तेदार पड़ोस में राह रहे झब्बू से किया तो शिब्बू उसका तावा उलटकर व्यवसायी को मारने लगा।लोगों ने बीच बराव भी किया लेकिन शिब्बू उसे देख लेने की धमकी देते हुए चला गया।व्यवसाई चंद्र प्रकाश ने बताया शनिवार की देर शाम शिब्बू पुनः अपने दोस्तों के साथ दुकान पर आया।जहां उसके न मिलने पर उसके फूफा रामफेर गुप्त पुत्र रामअनंत पर लोहे की रॉड से हमला करते हुए लहूलुहान कर दिया।और उसकी चाट मटर की दुकान को भी पलटकर मौके से फरार हो गया।मामला तब विगड़ गया जब पीड़ित की सूचना पर यूपी0 100 की टीम मौके पर गई और बिना पीड़ित से मिले सीधे आरोपी के घर गए।जहां चाय नास्ता कर वापस चले गए।उसके बाद आक्रोशित व्यापारी घायल व्यापारी को लेकर थाने पहुंचे और छः लोगों के विरुद्ध तहरीर दी।तहरीर पर पुलिस ने 323,504,506 का मामला दर्ज कर अपने कार्यो की इतिश्री कर ली।दूसरी ओर सीएचसी मवई के डॉक्टरों ने घायल की हालत गंभीर बताते हुए उसे जिला अस्पताल के लिये रेफर कर दिया।मामले में व्यापारियों की सूचना पर शनिवार की सुबह घटना स्थल पर पहुंचे पटरंगा थाना प्रभारी बृजेश सिंह ने पीड़ित पक्ष के निशादेही पर एक आरोपी को मौके से पकड़ा और फिर उसे छोड़ दिया।हालांकि पुलिस का कहना है कि उसे छोड़ नही गया वो जीप से कूद गया था।उसे पुनः पकड़ लिया गया है।मामले में पटरंगा थानाध्यक्ष के रवैय्या से खिन्न व्यापारियों ने रानीमऊ कुशहरी लिंक मार्ग को जाम कर धरना दिया और पटरंगा पुलिस के विरोध में मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे।आरोप रहा कि एसओ मुख्य आरोपी शिब्बू को विदेश भगाने में मदद कर रहे है।हालांकि मौके पर पहुंचे सीओ अमरसिंह ने उसे लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लेने की बात बताई है।

डीएम व एसएसपी के आश्वासन पर शांत हुए व्यापारी

आक्रोशित व्यापारियों ने व्यापारी नेता राजेश शर्मा व व्यापार मंडल उपाध्यक्ष राकेश गुप्त की अगुवाई में पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे के साथ अपनी मांगों को लेकर सड़क पर ही अनसन पर बैठ गए।जिसके बाद व्यापारियों ने मामले की जानकारी डीएम और एसएसपी को दिया।जिसपर तत्परता दिखाते हुए डीएम ने तत्काल सीओ व एसडीएम रुदौली से वार्ता कर जांच रिपोर्ट तलब करते हुए व्यापारियों को कार्रवाई का अस्वासन दिया।

यदि समय पर चेत जाते तो नही होती थू थू

व्यापारियों ने आरोप लगाया कि पटरंगा पुलिस हमला करने वालो को पकड़ने के बाद बिना किसी कार्रवाई के छोड़ दिया और वापस आकर पीड़ितों से कहा कि उसको इतना डाट लगा दिया कि उसका ब्लड प्रेशर बढ़ गया है।इस पर व्यापारियों ने जबाब दिया कि साहब उसको डांटने की नही बल्कि कार्रवाई की जरूरत थी।व्यापारियों ने आरोप लगाया कि विपक्षी शिब्बू विदेश भागने की फिराक में था जिसके बारे में पुलिस को जानकारी पहले से थी।यदि पहले ही आरोपी को पकड़ कर कार्रवाई कर दी जाती तो ये नौबत न आती।

एयरपोर्ट से गिरफ्तार हुए मुख्य आरोपी शिब्बू

मवई।आक्रोशित व्यापारियों की मानसिकता भांप कर सीओ रुदौली अमर सिंह ने तत्काल मवई थानाध्याक्ष रिकेश सिंह को एयरपोर्ट लखनऊ भेजा जहाँ आरोपी विदेश जाने के लिए एयरपोर्ट में इंट्री कर चुका था।सीओ ने घटना की जानकारी एयरपोर्ट अथॉरिटी लखनऊ को पहले ही दे दिया था।मौके पर पहुचे थानाध्यक्ष रिकेश सिंह ने मुख्य आरोपी शीबू को गिरफ्तार कर लिया और पटरंगा पुलिस को सौंपा।

लापरवाह थानाध्यक्ष पर कार्रवाई की मांग

आक्रोषित व्यापारियों ने कहाकि यदि बाकी बचे आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द नही होती और दोषी पुलिस कर्मियों व पटरंगा थानाध्यक्ष पर कोई कार्रवाई नही होती है तो व्यापार मंडल के पदाधिकारियों को दुबारा प्रदर्शन के लिए मजबूर होना पड़ेगा।व्यापार मंडल पदाधिकारियो ने एक स्वर में सीओ रुदौली से दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की।

विरोध में बंद रही रानीमऊ चौराहे की दुकानें

घटना के विरोध में रानीमऊ चौराहे की सभी सौ दुकानों में ताला लटका रहा।व्यापारियों के आक्रोश का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सुबह 6 बजे ही विरोध शुरू हो गया।

फिर भड़के व्यापारी आधे घंटे नेशनल हाइवे रहा जाम

मवई ! पटरंगा थाना क्षेत्र के रानीमऊ में मामूली बात पर युवकों द्वारा एक व्यवसाई पर जानलेवा हमला का मामला शनिवार के तीसरे पहर फिर उलझ गया।और आक्रोशित व्यापारी हाइवे पर पहुंच गए।लगभग आधे घंटे नेशनल हाइवे पर यातायात बाधित रहा।
दरअसल एक आरोपी को गिरफ्तार कर उसे छोड़ने को लेकर व्यापारियों का पटरंगा पुलिस से भरोसा ही उतर चुका है।जिससे दोपहर तक रानीमऊ मे खूब हंगामा हुआ।लगभग एक बजे डीएम एसएसपी के आश्वासन के बाद व्यापारियों ने अपना प्रदर्शन खत्म हुआ।लगभग तीन घंटा मामला शांत रहा।लेकिन सायं लगभग साढ़े चार बजे रानीमऊ के व्यापारी पटरंगा थाना प्रभारी पर पुनः पैसा लेकर आरोपी को छोड़ने का आरोप लगाते हुए हाइवे की दोनो पटरियों को जाम कर दिया।मौके पर मौजूद हाइवे चौकी प्रभारी पटरंगा भीमसेन यादव ने लोगों को समझाते हुए दावा किया कि जो भी आरोपी पकड़े गए वो थाने में मौजूद है।कोई भी आरोपी नही बचेगा सभी जेल जाएंगे।इतने में पहुंचे सीओ रूदौली अमर सिंह ने लोगों से बताया जिसको संसय हो वो पटरंगा थाने चले।पकड़े गए आरोपी हिरासत में है।उसके बाद व्यापारी शांत हुए।लेकिन इस दौरान लगभग आधे घंटे राजमार्ग पर यातायात बाधित रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News