चांद को अर्घ्य देने के बाद सुहागिनों ने तोड़ा व्रत

चौपाल ! देश के विभिन्न हिस्सों सहित यूपी0 के फैजाबाद बाराबंकी सहित आदि जनपदों में सुहागिनों ने शनिवार की शाम चांद का दीदार कर करवा चौथ का व्रत खत्म किया। इस दौरान कई इलाकों में महिलाएं काफी देर तक चांद निकलने इंतजार में भी खड़ी रहीं। वहीं कुछ महिलाएं इस खूबसूरत पल का फायदा उठाते हुए सेल्फी ली और एक दूसरे केे साथ फोटो भी खिंचवाएं।चांद निकलने बाद व्रत करने वाली महिलाओं ने चांद को अर्घ्य दिया और पति के हाथ से पानी पीकर या मीठा खाकर व्रत तोड़। महिलाओं ने अपने पति की लंबी उम्र की कामना के साथ करवा चौथ की पूजा संपन्न की। करवा चौथ की पूजा से पहले महिलाओं ने सोलह श्रृंगार किया।इस मौके पर देर शाम विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर करवाचौथ की शुभकामनाएं दी-

जेल में 30 महिला बंदियों ने रखा करवा चौथ का व्रत, किया चांद का दीदार

इटावा !करवाचौथ का त्योहार एक ऐसा पावन त्योहार है जिसे हर भारतीय महिला पूरे श्रद्धाभाव के साथ मनाती है। महिलाएं निर्जला व्रत रखकर अपने पति की सलामती की दुआ मांगती हैं। शनिवार को जिले भर में करवाचौथ का त्योहार की धूम रही।वहीं जिला कारागार में बंदी महिलाओं ने भी निर्जला व्रत रखकर अपने पति की सलामती की दुआ की। जेल में इस समय विभिन्न अपराधों में 92 महिलाएं निरुद्ध हैं। इनमें से 30 बंदी महिलाओं के द्वारा जेल प्रशासन से करवाचौथ का व्रत रखने की गुहार लगाई गई थी। इन महिलाओं की फरियाद पर जेल प्रशासन ने बंदी महिलाओं के लिए पूजन सामग्री की व्यवस्था की थी। महिलाएं पूरे दिन व्रत रहीं और चांद निकलने के बाद अघ्र्य देकर पूजा अर्चना की।जेल अधीक्षक राजकिशोर सिंह ने बताया कि महिला बंदियों के लिए करवाचौथ पूजन के लिए सभी सामान की व्यवस्था की गई थी। वहीं जेल के सभी बंदियों के लिए विशेष तौर से कड़ी-भात बनवाया गया था और महिलाओं के लिए कड़ी भात के साथ पूड़ी सब्जी भी बनवाई गई थी। वैसे तो करवाचौथ के दिन महिलाएं जेल में बंद अपने पतियों से मुलाकात करने के लिए आती थी। लेकिन इस बार करवाचौथ पर शनिवार पड़ गया इसलिए काफी संख्या में महिलाएं शुक्रवार को अपने-अपने पतियों से मुलाकात कर गई थी।

पत्नी ने करवा चौथ का व्रत रखने से किया मना, पति ने लगा ली फांसी

मथुरा ! उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में शनिवार को करवा चौथ के दिन एक गांव में बीमार पत्नी ने व्रत रखने में लाचारी जताई तो पति ने फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।पुलिस के अनुसार वृन्दावन कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत जैंत पुलिस चैकी के गांव मघेरा निवासी पेशे से टेलर दीना उर्फ दिनेश (19) ने केवल इसी बात पर सीलिंग फैन में रस्सी बांधकर फांसी लगा ली क्योंकि उसकी बीमार पत्नी ने करवा चैथ का व्रत रखने में असमर्थता जताई थी।

करवा चौथ पर सास ने व्रत रखने से रोका, बहू ने फांसी लगाकर जान दी

एटा ! पति की दीर्घायु का व्रत रखने से सास ने मना किया तो बहू ने फांसी लगा ली। उसका पति दिल्ली में काम करता है। उसकी आठ माह पहले ही शादी हुई थी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। नगला कृपी निवासी सरोज देवी (20) का पति दीपू कुमार दिल्ली में हलवाई का काम करता है। काम में व्यस्त रहने के कारण वह करवा चौथ पर घर नहीं आ पाया। सरोज की पहली करवा चौथ थी। वह अपने पति की दीर्घायु के व्रत के लिए तैयारी कर रही थी। सुहागिन का सबसे बड़े व्रत को लेकर वह काफी खुश थी।बहू का उत्साह उस समय ठंडा पड़ गया जब उसकी सास ने उससे व्रत रखने से मना कर दिया। लोगों की मानें तो सास ने कहा कि उसका पति आ नहीं पा रहा है इस कारण वह व्रत न रखे। सास की बात सुन सरोज काफी परेशान हो गई। उसने कमरे में फांसी लगा ली। बाद में जब उसके बारे में पता चला तो सास घबरा गई। उसने चीखपुकार की। उसकी आवाज सुन वहां मोहल्ले के लोग एकत्रित हो गए। इलाका पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को उतरवाकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। सरोज की मौत का पता चलते ही उसका पिता परिवारी जनों को साथ नगला कृपी पहुंच गए। उसका मायका नगला इमलिया थाना पिलुआ जनपद एटा में है। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News