जम्मू हादसा !गुलाब की मौत पर रो पड़ा गुलशन,दीपक के बुझने से दुखी हुए जन।

गुलाब की मौत पर रो पड़ा गुलशन,दीपक के बुझने से दुखी हुए जन।

घटना की सूचना मिलते ही तहसील रुदौली के अमरौती व अहमदाबाद गांव में मचा कोहराम।

परिजनो की पथराई आंखे ही बयां कर रही तबाही का मंजर।

मवई(अनिल कुमार मिश्र) ! जम्मू कश्मीर के शिव खोड़ी में हुई बस दुर्घटना के बाद तहसील रुदौली के अमरौती व अहमदाबाद गांव वासियों पर मानों दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।शुक्रवार को हुए भीषण हादसे में जहां इन दोनों गांव के चार लोग असमय काल के गाल में समा गए वही इन्ही गांवो के दर्भर भर श्रद्धालु घायल हो गए।घटना की सूचना मिलते ही शासन प्रशासन के अधिकारी के अलावा क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि समाजसेवियों सहित नातेदार रिस्तेदार गांव पहुंच लोगों को ढांढस बंधा रहे।इस हादसे में जहां अहमदाबाद गांव के निवासी गुलाब सिंह यादव की मौत की खबर सुनकर उनका बड़ा बेटा गुलशन फफककर रोते हुए जमीन पर गिरकर बार बार अचेत हो जा रहा है।गुलशन अपने तीन भाइयों में सबसे बड़ा है।जिसकी उम्र अभी 20 वर्ष है।ग्रामीणों की माने तो इस भीषण हादसे में गुलशन के पिता गुलाब की जहा मौत हो गई वही इसकी मां सागर वही के अस्पताल में भर्ती है।इस हादसे में बाप को खोने के बाद तीनों बेटों को अपनी माँ की चिंता सता रही है।इसके अलावा इस दुर्घटना में इसी गांव के निवासी अवधेश मिश्र का दीपक भी बुझ गया।दीपक की मौत की खबर सुनते ही उनके पिता अवधेश व पत्नी आरती का रो रोकर बुरा हाल है।लोगों की माने तो दीपक स्वभाव से सरल व मधुरभाषी होने के चलते उसकी मौत की खबर सुनते ही हर किसी का दिल भर आया।वही अमरौती गांव के अयोध्या प्रसाद को अपनी पत्नी सुशीला व 13 वर्षीय बेटे अनुभव को एक साथ अंतिम संस्कार करना पड़ेगा।गांव के बाहर से लेकर हर घरो में नाते रिस्तेदारो का जमावड़ा लगा हुआ है जो भी सुन रहा है बस भागा चला आ रहा है।

काटे नही कट रही दुःख की घड़ियां।

मवई !फैज़ाबाद के चार श्रद्धालुओ की जम्मू कश्मीर में हुई शुक्रवार की मौत की खबर से रुदौली के अहमदाबाद व अमरौती गांव में उसी दिन से मातम पड़ा है।गांव में लोगो के खाना पानी नही धस रहा है।हर कोई मृतको के अंतिम दर्शन के लिए रविवार को दिन भर बेताब दिखाई दिया।अहमदाबाद गांव के निवासी विजय यादव ने बताया इस हादसे ने पूरे गांव को हिलाक़े रख दिया है।लोगो के तीन दिन व राते मानो पहाड़ जैसी हो गयी है जो काटे ही नही कटती ।

रुदौली स्टेशन पर जुटी भीड़।

मवई !मृतको का शव सियालदह एक्सप्रेस से आने की सूचना पाकर दोनो गांवो के ग्रामीण व रिस्तेदार शाम पांच बजे से ही रुदौली स्टेशन पर जम गए।धीरे धीरे क्षेत्रीय लोगों की भारी भीड़ भी मृतको के अंतिम दर्शन के लिए भारी भीड़ रुदौली स्टेशन पर देखी गई।इसके अलावा कोतवाल रुदौली जयवीर सिंह सहित भारी मात्रा मे प्रशासनिक अमला मौजूद रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News