अयोध्या : अफसरों के साथ सीडीओ ने मवई ब्लॉक का किया दौरा,कमियों पर लगाई फटकार

पत्रावली के साथ साथ गांवो में हुए विकास कार्य का किया स्थलीय निरीक्षण

बाबूपुर,कुशहरी,मवई,बसौड़ी,संडवा नौरोजपुर बघेडी सुनबा कसारी गांव में पहुंची अफसरों की टीम

मवई(अयोध्या) ! मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार ने अफसरों के साथ मवई ब्लॉक दौरा किया।और बाबूपुर,कुशहरी,मवई,बसौड़ी,संडवा नौरोजपुर बघेडी सुनबा व कसारी गांव पहुंच मनरेगा विकास व पंचायत विभाग द्वारा कराए गए कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया।निरीक्षण के दौरान कुछ कमियां भी पाई गई।जिसको लेकर पंचायत सचिव सहित ब्लॉक के जिम्मेदारों को कड़ी फटकार भी लगाई।
अफसरों के साथ दोपहर मवई ब्लॉक क्षेत्र में पहुंचे सीडीओ प्रथमेश कुमार ने सर्व प्रथम कुशहरी गांव पहुंचे और हैडपम्प दुरुस्तीकरण के नाम पर निकाली गई भारी धनराशि को देख सीडीओ का गुस्सा सांतवे आसमान पहुंच गया।वहां विकास कार्यो की समीक्षा के दौरान कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए वहां से निकले और सीधे बसौड़ी ग्राम सभा में तमसा के उद्गम स्थल पर पहुंचे।यहां पांच लाख की लागत से जिला निधि द्वारा मिट्टी पटाई कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया।उसके बाद 14 लाख की लागत से बनी एनएचआई 28 से काजीपुरवा सीसी मार्ग का भी निरीक्षण किया।यहां से नेवरा संडवा में हुए विकास कार्यो का स्थलीय निरीक्षण करते हुए अफसरों की टीम नौरोजपुर बघेडी गांव पहुंची।वहां न्यूट्री गार्डेन के बारे में जानकारी करते हुए सीधे सुनबा गांव में घने जंगलों के बीच स्थित मां कामाख्या भवानी के दरबार मे माथा टेकते हुए 100 शैय्या हास्पिटल व राजकीय इंटर कालेज के निरीक्षण किया।

सीडीओ व डीसी मनरेगा ने सिक्योर लैब का किया उद्घाटन

मवई ! औचक निरीक्षण हेतु डीसी मनरेगा नागेंद्र मोहन राम त्रिपाठी के साथ मवई ब्लॉक मुख्यालय पहुंचे मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार ने सिक्योर लैब का उद्घाटन किया।लगभग 15 वर्ष पूर्व बनकर तैयार हुए भवन को बीडीओ मोनिका पाठक द्वारा मनरेगा का सिक्योर लैब बनाया।जिसका दोनों अफसरों ने फीता काटकर उद्घाटन किया।उद्घाटन के दौरान अफसरों ने कहा कि इस लैब में कर्मचारियों के अलावा अन्य किसी को प्रवेश नहीं दिया जाना चाहिए।जिससे बगैर किसी ब्यवधान के मनरेगा के कार्यो को समय से निपटाया जा सके।उसके बाद दोनों अफसरों ने मनरेगा पंचायती विभाग विकास विभाग अभिलेखागार एवं क्षेत्र पंचायत सम्बन्धी संबन्धित कार्यो की पत्रावलियों की गहन समीक्षा की।और कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना महमारी के दौर में गरीबों,निरीहो और प्रवासी मजदूरों के जीवन का आधार मनरेगा बना हुआ है।इसमें किसी प्रकार की सिथिलता पायी गयी तो बख्सा नहीं जायेगा। सभी श्रमिको को कम से कम सौ दिन का रोजगार अवश्य दिया जाना चाहिए। उसके बाद वे ब्लाक क्षेत्र के गांवो में हुए विकास कार्यो का स्थलीय निरीक्षण करने निकल गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News