अयोध्या : सीएम के फरमान के बावजूद परेसान है धरती के भगवान

न बैनर न पंखा न ही किया गया खरीद के लक्ष्य का निर्धारण

आधी अधूरी तैयारी के बीच धान खरीद का जारी हुआ फरमान

मवई ब्लॉक में धान खरीद के लिए बने तीन केंद्रों पर अब तक नही हुई बोहनी

मवई(अयोध्या) ! धान खरीद को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने भले ही 15 अक्टूबर से फरमान जारी कर दिया है।लेकिन सीएम के फरमान का असर अयोध्या जिले में बिल्कुल नही दिख रहा है।यही कारण है तहसील रूदौली के मवई ब्लॉक में बनाये गए तीन धान क्रय केंद्रों पर अब तक खरीद की बोहनी तक नही हुई है।इस पर कुछ केंद्र प्रभारियों ने मिल के अटैच न होने की समस्या बताई तो कुछ ने बताया किसान धान नही ला रहा।जबकि सच तो ये है कि सीएम के फरमान पर जिले के अधिकारियों ने क्रय केंद्र का निर्धारण कर औपचारिक रूप से धान खरीद का आदेश दे दिया।जबकि तैयारी अभी भी अधूरी ही है।किसानों का कहना है कि केंद्रों पर किसानों को मिलने वाली सुविधाएं अभी पूरी तरह नदारद हैं।
धान खरीद का हाल जानने जब हिंदुस्तान ने खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा संचित क्रय केंद्र मखदूमपुर का हाल जाना तो यहां एक दम सन्नाटा पसरा रहा।न कोई किसान मिला न ही केंद्र प्रभारी।केंद्र पर मौजूद विपणन सहायक रमेश चंद्र ने बताया कि अभी तक खरीद की बोहनी नही हुई है।हां दस किसानों ने अपना रजिस्ट्रेशन न0 व अन्य कागजात जमा किए है।लेकिन मिल का अटैचमेंट न होने से खरीद नही हो पा रही है।मार्केटिंग इंस्पेक्टर/केंद्र प्रभारी प्रवीण के नंबर पर सम्पर्क करने पर उन्होंने स्वयं को डीएम की मीटिंग में होना बताया।साथ ही ये भी बताया कि अभी तक खरीद का कोई लक्ष्य नही आया और न ही किसान आ रहे है।जबकि किसानों का कहना है कि कई बार केंद्र पर जाया गया लेकिन अभी धान लेने से मना कर देते है।वही बरौली समिति के सचिव राम केवल ने बताया अभी तक केंद्र पर धान खरीद की बोहनी तो नही हो पाई है।लेकिन एक दो दिन में खरीद शुरू हो जाएगी।क्रय केंद्र गनेशपुर से भी केंद्र प्रभारी के सहायक ने बताया कि अभी तक खरीद का लक्ष्य नही आया है।न ही अभी तक कोई खरीद की गई है।किसान के आने पर खरीद की जाएगी।कुल मिलाकर मवई क्षेत्र के तीनों क्रय केंद्रों पर अभी तक धान खरीद की बोहनी तक नही हुई।किसान नेता दिनेश दूबे ने कहा कि अधिकारियों ने क्रय केंद्रों पर बैनर लगा भेजवाकर खरीद शुरू होने की घोषणा कर दी।जबकि केंद्रों पर अभी तक खरीद की छोड़ो बैनर तक नही लगाए गए।और न ही क्रय केंद्रों पर किसानों को मिलने वाली सुविधाएं ही मुहैय्या कराई गई।केंद्रों पर बोरा, नमी मापक यंत्र व पंखा भी कही दिखाई नही देता है।

विचौलियों से लुटने को मजबूर किसान

विकासखण्ड मवई में स्थित तीनो धान क्रय केंद्रों पर धन की खरीद शुरू न होने से मजबूर किसान विचौलियों के हाथ लूटे जा रहे है।सैमसी के किसान आशीष तिवारी व नैयामऊ के भाई लाल ने बताया कोरोना काल मे किसान आर्थिक तंगी से परेसान है और क्रय केंद्रों पर धान की खरीद बंद है।ऐसे में जरूरतों को पूरा करने को लेकर किसान अपने धान को दस से 11 रुपये में बेचने को मजबूर है।विचौलिये भी किसानों के मजबूरी का खुलेआम फायदा उठा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News