अयोध्या : धार्मिक त्यौहार शारदीय नवरात्र पर भी लगा कोरोना का ग्रहण

आयोजक द्वारा पूजा पंडालों का अन्य कार्यक्रमों की तैयार की जा रही रूपरेखा पर भी लगा विराम

मंदिर अन्य सार्वजनिक स्थलों पर नही रखी जायेगी प्रतिमा,कार्यक्रम पर रोक

प्रतिमाओं के ऊँचाई को लेकर भी उहापोह,मूर्तिकार के साथ आयोजक भी परेसान

मवई(अयोध्या) ! धार्मिक उत्सव में शारदीय नवरात्र का कुछ विशेष ही महत्व होता है।जिसका हिन्दू सम्प्रदाय के लोगों को बहुत बेसब्री से इंतजार रहता है।लेकिन इस बार ये त्यौहार कोरोना काल मे पड़ने की वजह से तमाम कार्यक्रमों पर ग्रहण लग गया।जिससे इन दिनों चारों तरफ दिखने वाली रौनक कम है।मूर्तिकार से लेकर आयोजक व कलाकारों के माथे पर कोरोना का ग्रहण साफ दिख रहा है।
बताते चले इस धार्मिक उत्सव में लोग जगह जगह सजावट के साथ पूजा पंडाल का निर्माण करते है फिर उसमें महिषासुर मर्दनि मां दुर्गा की प्रतिमा का स्थापना कर पूरे नौ दिन तक पूजा अर्चना करते है।महिलाएं कलश की स्थापना कर व्रत रखती है।विगत वर्ष इस उत्सव पर सीओ सर्किल रुदौली के पटरंगा थाना क्षेत्र में 47 मवई में 57 व रुदौली में 74 जगहों पर प्रतिमाओं की स्थापना हुआ।अर्थात पूरे तहसील क्षेत्र के 178 स्थानों पर दुर्गा प्रतिमा की स्थापना कर पूरे नौ दिन भजन कीर्तन व देवी जागरण का आयोजन होता था।लेकिन इस बार शारदीय नवरात्र कोरोना काल मे पड़ने की वजह से प्रतिमाओं के स्थापना स्थल की गणना नही हो पा रही है।चूंकि डीएम अनुज झा द्वारा जारी गाइड को लेकर आयोजको में उहापोह की स्थित बनी हुई है।

क्या करना है क्या नही-सीओ रूदौली

सीओ रूदौली डा0 धर्मेन्द्र यादव ने हिंदुस्तान से बातचीत के दौरान बताया कि जिंदगी रहेगी बहुत सारे आयोजन होते रहेंगे।समाज के प्रत्येक व्यक्ति को इस बात का ध्यान रखना चाहिए।इन्होंने डीएम द्वारा जारी गाइड के बाबत बताया कि प्रतिमा सार्वजनिक स्थल पर नही रखी जायेगी।लोग अपने घरों में रख सकते है।डीजे आदि कार्यक्रम पर पूर्णतयः पाबंदी है।पूजा अर्चना होगी।प्रसाद वितरण नही होगा।यदि कोई करना चाहता है।तो डिब्बे में पैकिंग के साथ करेगा।भोज भंडारा नही होगा।यदि कोई करता है तो पैकिंग में करे।विसर्जन में जुलूस नही निकलेगा।पांच व्यक्ति विसर्जन में होंगे सामिल।शराब पीकर कोई पूजन स्थल तक नही जाएगा।

परमीशन लेना होगा अनिवार्य

एसडीएम रुदौली विपिन सिंह ने बताया कि जो आयोजक दुर्गा प्रतिमा रखते है।उन्हें परमीशन लेना होगा।नही तो बाद में समस्या आएगी।क्योंकि बिना नोड्यूज के कोई भी प्रतिमा नही ला पायेगा।परमीशन हेतु तहसील से फार्म मिल रहा है जल्द ही उसे भरकर दे।जिससे समय से सम्बंधित थाने से आख्या मंगवाकर नोड्यूज दिया जा सके।

विसर्जन घाटों पर भी किये जा रहे पुख्ता इंतजाम।

तहसील रुदौली क्षेत्र में तीन दिन तक चलने वाला दुर्गा प्रतिमा विसर्जन हेतु भी प्रशासनिक अधिकारियों ने तैयारियां शुरू कर दी।घाटों की साफ सफाई के अलावा रास्ते आदि दुरुस्त किया जा रहे।एसडीएम ने बताया कि सभी घाटों पर लाइट बैरीकेटिंग के अलावा नाव व कुशल गोताखोर भी रखे जाएंगे।सीमावर्ती घाटों पर सुरक्षा हेतु रुदौली पुलिस के अलावा बाराबंकी अमेठी पुलिस भी तैनात रहेगी।सीओ धर्मेंद्र यादव ने स्पष्ट कहा कि प्रतिमा विसर्जन में सिर्फ पांच व्यक्ति ही सामिल होंगे।शराब के नशे में मिला तो उसे तत्काल गिरफ्तार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News