BJP नेता अपनी महिलाओं को मेरे पास धरने के लिए भेजें, बदले में दूंगा 1000 रुपए :ओमप्रकाश राजभर

अक्सर अपने विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है. नागरिकता कानून को लेकर बीजेपी को घेरते हुए राजभर अपनी मर्यादा भूल गए और आपत्तिजनक बयान दे डाला. उन्होने शाहीन बाग में सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के विरोध में मुस्लिम महिलाओं को लेकर बीजेपी नेताओं के द्वारा पैसे लेकर विरोध किए जाने के आरोपों पर कहा कि बीजेपी नेता अपनी-अपनी महिलाओं को मेरे पास धरने के लिए भेजें, उन्हें एक हजार रुपए दूंगा.

इसके अलावा ओमप्रकाश राजभर ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झूठा बताया है. उन्होने कहा कि सीएए के मुद्दे पर पीएम मोदी कह रहे हैं कि एनआरसी जैसी कोई बात नहीं है, वहीं अमित शाह कह रहे कि असम की तरह ही पूरे देश में लागू होगा. दोनों एक नम्बर के झूठे हैं. यूपी में चल रहे विकास कार्यों में गुजराती कम्पनियों को काम दिया गया है. राजभर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के सर्किट हाउस में मीडिया को संबोधित कर रहे थे, इस दौरान ही उन्होने ये बातें कहीं.

राजभर ने कहा कि भारत में रहने वालों से सबूत मांग कर अमन चैन बर्बाद किया जा रहा है. जब चुनाव लड़ रहे थे, तब तो कोई सबूत नहीं मांगे. किसी को धर्म के आधार पर बांटने का हक नहीं है.15 करोड़ लोग घुमंतू जाति के लोग है, वह कहां से प्रमाण पत्र देंगे? राजभर ने कहा कि देश मे उपद्रवी पार्टी के नाम से भाजपा जानी जा रही है. जेएनयू में एबीवीपी ने नकाब पहन कर माहौल बिगाड़ा. कांग्रेस की सरकार में प्याज महंगा दिख रहा था. आज 60 रूपए किलो है, तो नहीं दिख रहा है. आरबीआई गवर्नर गुजराती, ईडी चीफ गुजराती, पीएम गुजराती, गृह मंत्री गुजराती, बड़े ठेके गुजराती, बीसीसीआई के उपाध्यक्ष अमित शाह के बेटे को बनाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News