कोपेपुर हत्याकांड -पिता -पुत्र के रिश्ते हुए शर्मसार,पुत्र ही निकला पिता का कातिल


एक सप्ताह पूर्व पटरंगा थाना क्षेत्र के कोपेपुर गांव हुए शहीम कुरैशी हत्याकांड का शुक्रवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया । खुलासे के बाद लोगो के दांतो तले अंगुलिया दब गई कि पिता पुत्र जैसे मजूबत रिश्तो को भी पैसा अलग कर सकता है और बात हत्या तक पहुच सकती है । जी हां मृतक शहीम कुरैशी का सगा पुत्र अली मोहम्मद ने चौकुओ से अपने पिता की घाघरा नदी के किनारे हत्या की थी ।शुक्रवार को एस पी ग्रामीण ने घटना का खुलासा करते हुये बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह 12 वर्ष की उम्र से ही कोलकाता के एक होटल में काम किया करता था और कमाये गये सारे पैसे घर भेज देता था। मेरे अब्बू सारा पैसा मेरे छोटे भाई अली अहमद और उसकी पत्नी पर खर्च कर दिया करते थे ।मैंने दरियाबाद में एक प्लाट खरीदा था इस बार जब मैं घर आया तो मुझे उस जमीन की रजिस्ट्री कराना था। मैंने अब्बू से पैसे मांगे तो उन्होंने देने से मना कर दिया ।घटना के दिन फिर पैसा मांगा तो वह नाराज होकर मांझा चले गये जिससे मुझे बड़ा क्रोध आया कि मेरी मेहनत की कमाई वह अपनी दूसरी औरत और लड़के पर उड़ा रहे हैं। कुछ देर बाद मैं भी चाकू लेकर उनके पास पहुँच गया और एक बार फिर से पैसा मांगा तो मेरे बाप ने मुझे मारने के लिये दौड़ा लिया मैंने उन्हे उठाकर पटक दिया और पीठ पर बैठकर उनका गला चाकू से रेत कर उनकी हत्या कर दी और उनकी लाश और चाकू वहीं पानी में फेंककर भाग आया । दूसरे दिन उनकी लाश पानी के ऊपर आ गई।किसी को शक न हो इसलिए मैने ही उनकी मृत्यु की एफ आई आर लिखाई। मगर पुलिस की कारवाई से मुझे लगा कि पुलिस को मुझ पर शक होने लगा है और आज ही मैं यहाँ से भागने की फिराक में था कि तब तक पुलिस ने मुझे गिरफ्तार कर लिया ।खुलासे के बाद लोगो को यकीन ही नही हो रहा है कि पैसों के लिए आदमी इतना गिर सकता है कि जिसने उंगली पकड़कर चलना सिखाया उस पिता की पुत्र हत्या कर देगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News