बड़ी कार्रवाई : हाइवे पर आगजनी व दंगा मामले में सपा नेता समेत 26 नामजद व 150 अज्ञात पर मुकदमा,सात गए जेल

हिस्ट्रीशीटर विरजन सिंह की हत्या के बाद हाइवे पर रोडवेज की बसों में की थी आगजनी

पुलिस टीम को भी मारने की नियत से की गई थी फायरिंग,पथराव में कई जवानों लगी चोटें।

मवई(अयोध्या) ! गुरुवार को मवई क्षेत्र के हिस्ट्रीशीटर बृजेश सिंह उर्फ विरजन सिंह की हत्या के बाद नेशनल हाईवे पर बवाल काटने के मुख्य आरोपी संडवा गांव निवासी सपा युवजन सभा के जिला उपाध्यक्ष बृजेश यादव समेत 26 नामजद और 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ हाईवे चौकी इंचार्ज की तहरीर पर मवई थाने में 13 गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर सात की गिरफ्तारी की गई है। तहरीर में हाईवे चौकी इंचार्ज ने पुलिस अफसरों को मारने की नीयत से उपद्रवियों पर फायरिंग का भी आरोप लगाया है। यह भी दावा किया गया है कि पथराव में कई पुलिस जवान चोटिल हुए हैं।
बघेड़ी गांव के निवासी जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि बृजेश सिंह उर्फ विरजन की बुधवार की रात हत्या कर दी गई थी। शव अगले दिन तालगांव में बरामद हुआ। पुलिस द्वारा शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजे जाने से नाराज परिजन के साथ सपा युवजन सभा के जिला उपाध्यक्ष बृजेश यादव समेत 200 लोगों ने मवई चौराहे पर पहुंचकर नेशनल हाईवे को जाम कर दिया था। परिवहन निगम की बस यूपी 42 बीटी-6484 व यूपी 32 बीएन-9354 को आग के हवाले किया ही। यूपी 53 ईटी-9639 में तोड़फोड़ की। हाईवे चौकी प्रभारी दीपेंद्र सिंह की ओर से दी गई तहरीर में आरोप है कि उपद्रवियों ने पहले पुलिस से गाली-गलौज की। फिर जान से मारने की नीयत से अवैध शस्त्र से फायरिंग की। आखिरकार पीएसी व आरएएफ के जवानों ने काबू पाया था।सीओ धर्मेंद्र यादव के मुताबिक हाईवे पर बवाल करने का मुख्य आरोपी सण्डवा गांव निवासी बृजेश यादव के अलावा 26 लोगों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 332, 336, 353, 323, 307, 427, 504 व सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम की धारा 3, 4 और आपराधिक कानून (संशोधन) अधिनियम 1932 की धारा 7 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

बॉक्स-
इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

सण्डवा के बृजेश यादव, भुड़रे व अरविंद यादव, मथुरा का पुरवा निवासी सिरजीत, अमृतलाल, पिंटू, धर्मेंद्र, अनुपम व पुष्पेंद्र, नौरोजपुर बघेड़ी के चिंगी, शेरपुर के अरविंद पंडित व बघेड़ी के पुत्तनलाल धोबी का नाम शामिल है ही। इसके अलावा भी नेवरा निवासी पंकज जायसवाल व श्यामजी कौशल, बघेड़ी के रोहित, फूलचंद्र यादव, मालिकराम यादव, अय्याज, नौरोजपुर के अमर बहादुर, शिवप्रताप सिंह व देवराज सिंह, अशरफपुर के कृपाशंकर पर भी पुलिस ने केस दर्ज किया है। इसके अलावा मृतक विरजन सिंह का भाई राजू सिंह व साला भी मुकदमे की जद में आया है।

बॉक्स-
ये आरोपी भेजे गये जेल

मुख्य आरोपी बृजेश यादव, सुरजीत, अमृतलाल उर्फ अमर सिंह, पिंटू, धर्मेंद्र, अनुपम व पुष्पेंद्र को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News