उन्नाव में मासूम भाई-बहन की दिनदहाड़े गला रेतकर हत्या

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के शुक्लागंज के गंगाघाट थाना क्षेत्र के ऋषिनगर में भाई-बहन की गला रेतकर हत्या कर दी गई। मामले की जांच के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार पांडेय ने पांच टीमें गठित की हैं। एक टीम गंगाघाट के कोतवाल व दूसरी अचलगंज के प्रभारी निरीक्षक आशुतोष त्रिपाठी के नेतृत्व में बनी है। स्वाट सर्विलांस और फील्ड यूनिट टीम को भी लगाया है। गंगाघाट कोतवाली के इंस्पेक्टर हरिप्रसाद अहिरवार ने बताया कि कानपुर से सटे शुक्लागंज के गंगाघाट थाना क्षेत्र के ऋषिनगर में भाई-बहन की गला रेतकर हत्या कर दी गई। उन्होंने बताया कि गंगाघाट थाना क्षेत्र के ऋषिनगर निवासी पवन मिश्र एक कंपनी में सेल्समैन हैं।

आशुतोष त्रिपाठी बताय कि सोमवार सुबह पवन काम पर चले गए और उनकी पत्नी मोनू पास ही नर्सिगहोम में भर्ती बहन की बहू को देखने चली गईं। घर में 14 साल की बेटी अंशिका और और ढाई साल का बेटा राघव अकेले थे। जब वह घर लौटीं तो दरवाजे की कुंडी बाहर से बंद थी। कुंडी खोलने के बाद मोनू ने बच्चों को आवाज दी, पर कोई जवाब नहीं मिला। इस पर वह दूसरी मंजिल पर होने की सोचकर वहां पहुंच गईं। जहा उसने देखा कि कमरे में अलमारी का सामान बिखरा देखकर अनहोनी की आशंका पर वह भागकर नीचे के कमरे में पहुंचीं तो बेड पर बेटी और मासूम बेटे के खून से लथपथ शव देख बदहवास हो गईं। दोनों मासूम बच्चों की गला रेतकर हत्या की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News