कानपुर : जब चप्पलों से पीटे गए दरोगा जी ने हाथ जोड़कर मांगी माफी, लगे गंभीर आरोप

कानपुर : बदन पर यूपी पुलिस की वर्दी कंधे पर दो स्टार और कमर पर पिस्टल लगी हो तो फिर दरोगा जी से बढ़कर दूसरा कोई रंगबाज हो ही नहीं सकता। परन्तु कानपुर की जनता जनार्दन ने ऐसे ही एक दरोगा को जूते और चप्पलों की धूल चटा दी। वीडियो में एक के बाद एक चप्पले खा रहे इस दरोगा पर एक युवती से नशे में छेड़छाड़ करने के आरोप लगे हैं। जिसके बाद गुस्साई भीड़ ने दरोगा को जमकर पीटा और पीटने के बाद बर्रा थाने में ले जाकर जमा कर दिया। दरोगा की पिटाई का वीडियो वायरल होते ही पुलिस महकमे के आला अधिकारियों ने इस पूरे मामले पर चुप्पी साध ली थी।

लेकिन मीडिया में मामला उछलने के बाद एसपी साउथ रवीना त्यागी को बयान तो देना ही पड़ा। जनता की चप्पल मार कार्रवाई के बाद दारोगा पर अभी पुलिस महकमे की कार्रवाई बाकी है। अब देखने वाली बात ये होगी की पुलिस महकमा अपने इस नशेबाज दरोगा पर क्या कार्रवाई करता है। या पुलिस की कार्रवाई में दरोगा को बाइज्जत बरी कर दिया जाएगा।

विस्तार से

बर्रा-8 के एक मकान के ग्राउंड फ्लोर में अकाउंटेंट अरविंद पांडेय, उनकी पत्नी संतोष और बच्चे रहते हैं। मकान मालिक ने तीन दिन पहले जाल खोलकर डेढ़ लाख की नकदी चोरी का आरोप किरायेदार पर लगाया था। अरविंद का आरोप है कि चोरी का शक जता मकान मालिक और उनके बेटों ने उसे व पत्नी को पीटा। अरविंद ने इसकी जानकारी लखीमपुर में तैनात रिश्तेदार दारोगा को जानकारी दी। उनके रिश्तेदार ने बैचमेट रहे नजीराबाद में तैनात दारोगा मनोज पांडेय को भेजा।

समझौता कराने के दौरान पहुंचे दारोगा से मकान मालिक की बेटी ने अभद्रता कर दी। दारोगा ने विरोध करते हुए नाराजगी जताई तो परिजनों ने मारपीट शुरू कर दी। इस बचाव में दारोगा ने पिस्टल निकालकर तान दी। मौके पर मौजूद युवकों ने दारोगा का हाथ पकड़ लिया। कंट्रोल रूम की सूचना पर पहुंची पुलिस दो पक्षों को थाने ले आई। देर रात दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ तहरीर दी। सोमवार शाम तक मामले में समझौते के प्रयास चलते रहे। एसपी साउथ रवीना त्यागी ने बताया कि दारोगा संग मारपीट का मामला सामने आया है, मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News