मूर्ति चोर गिरोह का खुलासा,दो गिरफ्तार एक फरार,बूढ़े बाबा मन्दिर बघेड़ी जंगल मवई से पांच माह पहले चुराई गयी अष्टधातु की प्राचीन मूर्ति हुई बरामद।

राम, जानकी व लक्ष्मण की मूर्तियों को पुलिस ने बरामद कर तीन में से दो मूर्ति चोरों को गिरफ्तार कर लिया है।

चुराई गयी प्राचीन अष्टधातु की राम, जानकी व लक्ष्मण की मूर्तियां भी बरामद।

कार से मूर्तियों को बेंचने जा रहा था चोर गिरोह

फैजाबाद। बूढ़े बाबा मन्दिर बघेड़ी जंगल मवई से पांच माह पहले चुराई गयी अष्टधातु की प्राचीन राम, जानकी व लक्ष्मण की मूर्तियों को पुलिस ने बरामद कर तीन में से दो मूर्ति चोरों को गिरफ्तार कर लिया है। यह जानकारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेन्द्र कुमार ने पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में दिया।उन्होंने बताया कि बूढ़े बाबा मन्दिर से पांच माह पूर्व मूर्तियां चुराई गयी थीं मन्दिर के पुजारी जगदेव दास ने इस सम्बन्ध में मवई थाना में अज्ञात चोरों के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत कराया था। पुलिस मूर्ति चोरी की घटना की छानबीन करने में एफआईआर दर्ज होने के बाद से जुट गयी थी मुखबिर खास ने सूचना दिया कि तीनों मूर्तियों को सफेद स्विफ्ट कार से कुशहरी जंगल पुराना रोड़ रामसनेही घाट बार्डर के रास्ते लखनऊ ले जाया जा रहा है। स्वाट टीम प्रभारी अपने दल के साथ कल्याणी नदी के पुल पर गाड़ाबंदी कर कार यूपी 32 जेयू 5908 के आने का इंतजार करने लगे। चिन्हित सफेद रंग की स्विफ्ट कार जैसे ही आती दिखाई पड़ी पुलिस ने घेरकर उसे रोंका तभी उसमें बैठे मूर्ति चोर गेट खोलकर भागने का प्रयास करने लगे थे। स्वाट टीम और थानाध्यक्ष मवई की टीम ने दौड़ाकर भाग रहे दोनो को धर दबोचा। पूंछताछ करने पर अभियुक्तों ने अपना नाम गया प्रसाद पुत्र भुलई निवासी थौरी थाना जगदीशपुर जनपद अमेठी और उमेश दास गुप्ता पुत्र गोपालदास गुप्ता निवासी 765 मोहल्ला रिकाबगंज थाना कोतवाली नगर जनपद फैजाबाद बताया। अभियुक्तों के पास से चुराई गयी तीनों मूर्तियां एक मोबाइल फोन, एक तमंचा देशी 12 बोर, दो जिन्दा कारतूस, कार और दो हजार रूपये नकद बरामद किया। अभियुक्तों ने पूंछताछ के दौरान स्वीकार किया कि बूढ़े बाबा मन्दिर से तीन लोगों ने मिलकर मूर्तियों की चोरी किया था। इन लोगों ने अपने फरार साथी का नाम किशन पाल पुत्र राधेश्याम निवासी ग्राम भखौली थाना खण्डासा बताया है। एसएसपी ने बताया कि गया प्रसाद रावत के विरूद्ध मवई व इनायतनगर थाना में सात मुकदमें तथा उमेश दास गुप्ता के विरूद्ध मवई थाना में एक मुकदमा दर्ज है। दोनों को सीजेएम के सामने प्रस्तुत कर जेल भेजा जायेगा। उन्होंने गिरफ्तार करने वाले पुलिस दल को 10 हजार रूपये नकद पुरस्कार देने की घोषणा किया है। पुजारी जगदेव दास ने बताया कि तीनों मूर्तियां लगभग 100 साल पुरानी हैं और मन्दिर में इसे राजा हरिहर सिंह ने प्राण प्रतिष्ठित कराया था।ल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News