July 14, 2024

आखिर कौन हैं माफिया अतीक के हत्यारे लवलेश, सनी और अरुण?

0

लखनऊ- प्रयागराज मेडिकल कॉलेज में अतीक, अशरफल की हत्या करने वाले तीनों हत्यारोपियों का क्राइम कुंडली पुलिस खंगाल रही है. हत्या करने वाले आरोपियों की पहचान लवलेश तिवारी निवासी बांदा, अरुण मौर्य निवासी हमीरपुर व सनी निवासी कासगंज के रूप में हुई है. तीनों हत्यारोपियों ने अतीक व उसके भाई अशरफ की हत्या करने के बाद खुद को पुलिस के हवाले कर दिया था. पुलिस अब इन तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है. पुलिस की पड़ताल में अब तक इन तीनों का पुराना आपराधित इतिहास निकलकर सामने आया है.

माफिया अतीक व अशरफ की हत्या करने वाले तीनों आरोपियों के परिजन उनसे अपना पल्ला झाड़ रहे हैं. परिजनों का कहना है उनके इस कार्य से हमारा कोई लेना देना नहीं हैं. शूटर लवलेश तिवारी के पिता यज्ञ तिवारी का कहना है कि हमें कोई जानकारी नहीं की वह वहां कैसे पहुंच गया, और हमें इससे कोई मतलब नहीं है. यह प्रयागराज में कब से है हमें नहीं पता. उन्होंने बताया कि लवलेश आखिरी बार 7-8 दिन पहले घर आया था.

वहीं, शूटर अरुण मौर्य कासगंज का रहने वाला है. अरुण के माता-पिता का देहात बचपन में ही हो गया था. अरुण तीन कुल भाई है. एक भाई अहमदाबाद में काम करता है. अरुण के गांव में उसके चाचा-चाची रहते हैं. पुलिस ने उनसे अरुण के बारे में पूछताछ की है. परिजनों के मुताबित अरुण का पुराना आपराधित इतिहास रहा है

तीसरा आरोपी शनि सिंह हमीरपुर का रहना वाले है. शनि सिंह के गांव के मुताबित वह बचपन से ही झगड़ालू था. बचपन से ही वह आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहता था. गांव वालों के अनुसार माफिया अतीक की हत्या करने वाला आरोपी शनि सिंह करीब 15 साल से घर नहीं आया था. पहले शनि ने चाय समोसा की दुकान की थी, उसके बाद वह घर छोड़कर बाहर चला गया था.

प्रयागराज पुलिस आयुक्त रमित शर्मा के अनुसार तीनों हत्यारोपी मीडियाकर्मी बनकर आए थे. उन्होंने बताया तीनों से पूछताछ जारी है. उनके पास से कुछ असलहे बरामद हुए हैं. अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की मौत के अलावा एक पुलिसकर्मी को भी गोली लगी है. एक पत्रकार को भी चोट आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News