July 14, 2024

खाखी के साए में था अतीक, जानिए कब-क्या और कैसे हुआ

0

उमेश पाल हत्याकांड के आरोपी माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. दोनों को प्रयागराज में मेडिकल कॉलेज के पास तीन हमलावरों ने मौत के घाट उतार दिया है. बताया जा रहा है कि हमला करने वाले तीन लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाते हुए फायरिंग की थी. घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है. पूरा इलाका छावनी में तब्दील हो गया है.

पुलिस के घेरे में घुसकर हमलावरों ने की फायरिंग

पुलिस दोनों का मेडिकल कराने के लिए मेडिकल कॉलेज पहुंची थी. इसी दौरान पुलिस सुरक्षा घेरे में घुसकर हमलावरों ने कई राउंड फायरिंग की. अंधाधुंध फायरिंग से पुलिसकर्मियों में भी भगदड़ मच गई. कई गोलियां लगने से अतीक और अशरद मौके पर ही गिर गए.

हमले में एक सिपाही को भी लगी गोली

हमला उस वक्त हुआ जब अतीक मीडिया के सवालों का जवाब देने के लिए आगे बढ़ा था. गुड्डू मुस्लिम को लेकर अतीक केवल इतना ही कह पाया था ‘मेन बात ये है’ कि एक हमलावर ने माफिया के सिर में पिस्टल सटाकर गोली दाग दी. इतना ही नहीं उसके अन्य दो साथियों ने कई राउंड और फायरिंग की.

इसके बाद पुलिस के सामने हाथ उठाकर सरेंडर भी कर दिया. पुलिस ने हमलावरों को पकड़ लिया है. घटनास्थल से पुलिस ने पिस्टल बरामद की है. इस हमले में एक सिपाही को भी गोली लगी है, जिसकी पहचान मान सिंह के रूप में हुई है. उधर, पुलिस कस्टडी में हुई दोनों की हत्या को लेकर सवाल उठ रहे हैं.

इस सनसनीखेज वारदात को लेकर पुलिस महकमे में भी हड़कंप मचा हुआ है. प्रयागराज से लेकर सूबे की राजधानी तक हड़कंप का माहौल है. जिस तरह से हमलावरों ने वारदात को अंजाम दिया और सरेंडर किया, उसको लेकर भी सवाल उठ रहे हैं. पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने पहुंचे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News