July 14, 2024

मवई(अयोध्या) ! बीसी सखी ने बनाया ऐसा मुकाम कि बन गई मिशाल,जानिए पूरी कहानी

0

दहलीज के अंदर मजबूर महिलाओं के लिए नजीर बनी अर्चना साहू

जिले की रैंकिंग में नम्बर वन व कमीशन की आय में दूसरे नम्बर पर रही ये महिला,बीसी सखी अर्चना की सफलता पर मवई के अफसरों को भी नाज।

मवई(अयोध्या) ! राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) की उम्मीदों को परवान चढ़ाने और जनपद को गौरवान्वित करने में मवई ब्लॉक के दुल्लापुर गांव की बीसी सखी अर्चना साहू नजीर बनी हुई है।वित्तीय वर्ष 2021-22 में जिले की रैंकिंग में नम्बर वन रही और कमीशन की आय में दूसरे नम्बर पर रही अर्चना साहू को सीडीओ अनीता यादव के बाद बीडीओ मवई रशेष गुप्त ने भी सम्मानित करते हुए बधाई दी है।
बताते चले कि मवई ब्लाक के दुल्लापुर ग्राम पंचायत की निवासी अर्चना साहू के पति की वर्षो पहले असमय मौत हो चुकी है।उसकी एक मासूम पुत्री भी है।पति की मौत के बाद उसके सामने परिवार को संभालने की बड़ी चुनौती थी।अर्चना साहू बताती है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना में शामिल होकर एनआरएलएम की महत्वाकांक्षी योजना बीसी सखी में चयनित हुई।धीरे धीरे अर्चना की पहचान इनके काम से बढ़ने लगी।अर्चना साहू बताती है कि आज वह अकेले 20 हजार रुपए महीने की आय कर रही है।वित्तीय वर्ष 2021-22 में बीसी सखियों में अर्चना साहू ने प्रथम स्थान प्राप्त किया वही सर्वाधिक कमीशन आय में दूसरा स्थान प्राप्त कर विपरीत परिस्थितियों में भी मिसाल बनकर सामने खड़ी हुई हैं।

काम व जुबान से मिली सफलता

स्वयं सहायता समूह की ब्लॉक अध्यक्ष सबीना खातून ने कहा शासन के काम और अपनी संस्कारी जुबान की बदौलत अर्चना दीदी ने ये सफलता हासिल की है।योजना प्रारंभ होने से अब तक सर्वाधिक लेन-देन कर ग्रामीणों को लाभांवित किया है।बीडीओ मवई रशेष कुमार गुप्त ने समीक्षा के दौरान अन्य महिलाओ को अर्चना साहू से प्रेरणा लेने के लिए कहा है।मवई ब्लाक की इस बीसी सखी की कार्य कुशलता जिले में नजीर बनी तो मवई ब्लॉक के समूह की अन्य सखियों सहित ब्लॉक के अधिकारियों- कर्मचारियों में उल्लास का माहौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News