….तो चाची ने मायके बुलाकर की थी भतीजे की हत्‍या,बहन और उसके प्रेमी संग द‍िया वारदात को अंजाम

सुनील कुमार की हत्या उसकी चाची गीता यादव व चाची की बड़ी बहन संगीता यादव ने अपने प्रेमी प्रदीप कुमार यादव व प्रेमी के भाई मित्रसेन यादव के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से गन्ने के खेत में ले जाकर फावड़ा व खुरपी से हमला करके कर दिया।

रुदौली(अयोध्या) ! बिहार के युवक की हत्या के मामले में रिश्तों को कलंकित करने के सच से पुलिस ने पर्दा उठाया है। भतीजे की हत्या की मुख्य अभियुक्त उसकी चाची निकली। चाची ने मायके बुलाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। मृतक युवक का चाची से अवैध संबंध था। प्रेम प्रसंग में मनमुटाव होने पर वह पीछा छुड़ाने लगी। चाची ने अपनी बहन, उसके प्रेमी एवं प्रेमी के भाई के साथ मिलकर फावड़ा व खुरपी से भतीजे पर प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया। वह 22 वर्ष का था।
घटना रुदौली के बनगवां गांव की है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शैलेंद्र कुमार सिंह ने पुलिस लाइन में मीडिया को बताया कि 14 जुलाई को गन्ने के खेत में पूर्वी चंपारण बिहार निवासी युवक सुनील कुमार का शव बरामद हुआ था। पिता पन्ना लाल शाह की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर जब पुलिस ने विवेचना शुरू की तो चौकाने वाले तथ्य सामने आए। सुनील कुमार की हत्या उसकी चाची गीता यादव व चाची की बड़ी बहन संगीता यादव ने अपने प्रेमी प्रदीप कुमार यादव व प्रेमी के भाई मित्रसेन यादव के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से गन्ने के खेत में ले जाकर फावड़ा व खुरपी से हमला करके कर दिया। हत्या में प्रयुक्त फावड़ा व खुरपी गन्ने के खेत से अभियुक्त के निशानदेही पर बरामद किया गया।सुनील की चाची गीता लखनऊ में रेलवे विभाग में कार्यरत है। पुलिस के अनुसार वहीं से उसके अवैध संबंध भतीजे सुनील से बने थे। उसने भतीजे को अपने मायके बनगावां बुलाया था। हत्या की योजना पहले से बना ली गई थी। एसपी ग्रामीण ने हत्या का अनावरण करने वाली पुलिस टीम व स्वाॅट टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की। सीओ रितेश सिंह व प्रभारी निरीक्षक विनोद बाबू मिश्र भी पत्रकारवार्ता में मौजूद रहे। सभी को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News