संजय भाटी की ‘बाइक बोट’ कंपनी ने की करोड़ों की ठगी

करीब 20 महीने पहले गौतमबुद्धनगर से शुरू हुई एक कंपनी इन दिनों लोगों को जमकर चूना लगा रही है। बताया जा रहा है कि बाइक बोट नाम की इस कंपनी ने लगभग हजारों लोगों से 40 करोड़ की ठगी की है। ताजा मामला यूपी के मेरठ जिले कंकरखेड़ा का है, जहां बाइक बोट लगवाने वाले एक फौजी के गायब हो जाने के बाद रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई है।

कंपनी का बड़ा फर्जीवाड़ा

जानकारी के मुताबिक, बड़ी तादाद में लोगों से पैसा लिया गया। जिसके बाद बाइक भी खरीदी गई। मगर पिछले कुछ समय से बाइक बोट लगाने वालों को रुपये नहीं मिल रहे हैं। इसके बाद कहा जा रहा है कि कंपनी ने लोगों के साथ बड़ा फर्जीवाड़ा किया है। बता दें कि बाइक बोट लगवाने वाला रिटायर्ड फौजी गायब हो गया है, जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भी कंकरखेड़ा थाने में दर्ज कराई गई है।

30 जनवरी के बाद रिटायर फौजी लापता

ड्रीम सिटी कॉलोनी में रहने वाले रिटायर फौजी के बारे में बताया जा रहा है कि उसे आखिरी बार 30 जनवरी को देखा गया था। उसके बाद से ही वह लापता हो गया है। कॉलोनी में उसकी चप्पल, मोबाइल, पर्स बरामद किया गया है।

साथ ही कहा जा रहा है कि वह काफी दिनों से तनाव में चल रहा था क्योंकि उसने करीब 600-700 बाइक लगवाई थी जिसमें लोगों ने लगभग 40 करोड़ रुपये इन्वेस्ट किये थे और साथ ही उन्होंने बाइक बोट लगाने के लिए कंपनी को बाइक खरीदकर भी दी थी, लेकिन उसके पैसे लोगों को नहीं मिल पा रहे थे। जिसकी वजह से गुमशुदा फौजी काफी तनाव में था क्योंकि इन्वेस्टर लगातार उस पर दबाव बनाए हुए थे।

फौजी के गुमशुदा होने के पीछे कंपनी का ही हाथ ?

जब इस बात की जानकारी पुलिस को हुई थी तो ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि फौजी के गुमशुदा होने के पीछे कंपनी का ही हाथ हो सकता है। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है।

फर्जीवाड़े के आरोप के बाद बसपा ने वापस लिया पद

बता दें कि यह कंपनी बहुजन समाज पार्टी से लोकसभा के प्रत्याशी घोषित किए गए संजय भाटी की है। हालांकि, फर्जीवाड़े के आरोप लगने के बाद बसपा ने संजय भाटी को प्रभारी पद से हटा दिया है।

पीड़ितों ने लगाए गंभीर आरोप

बीते 24 और 31 जनवरी को प्रदर्शन कर रहे पीड़ितों ने कहा कि संजय भाटी चोर है। संजय भाटी ने हजारों लोगों की खून पसीने की कमाई हड़प ली है। संजय भाटी ने फर्जी कंपनी बनाकर लोगों को ज्यादा पैसों का लालच दिया और उन्हें करोड़ों का चूना लगाया।

कंपनी ने ऐसे दिया झांसा

निवेशकों के मुताबिक, कंपनी ने 62 हजार रुपये जमा करने पर 12 महीने तक 10 हजार रुपये हर महीने देने का वादा किया था। आरोप है कि कंपनी ने हजारों लोगों को कई महीनों से उनके पैसे रिटर्न नहीं किए हैं, जिसके चलते जीटी रोड कोट गांव के पास कंपनी के कार्यालय पर निवेशकों ने जमकर हंगामा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News