फैजाबाद में आठ जायरीनों से भरी नाव गोमती नदी में पलटी,पांच बचे तीन में से एक शव बरामद दो की तलाश जारी

फैजाबाद/अमेठी ! फैजाबाद जिले के कुमारगंज थानाक्षेत्र अंतर्गत पूरे झारियक आदिलपुर गांव के ग्रामीण जगदीशपुर में मुहर्रम की जियारत करने गोमती नदी में नाव से जा रहे थे।देर रात नदी का बहाव तेज होने के कारण नाव पलट गई।इससे नाव में सवार आठ लोग डूबने लगे।उनमें से पांच लोगों को तो किसी तरह बाहर निकल लिया गया,लेकिन दो बच्‍चों सहित एक युवक का पता नहीं चल सका।साथियों ने उनकी काफी खोजबीन की,लेकिन उनका कुछ अता पता नहीं चल सका।घटना की सूचना पुलिस को लगी तो कुमारगंज व जगदीशपुर पुलिस मौके पर पहुंच गई।यही नहीं दोनों थाने की पुलिस घटनास्थल को लेकर पल्ला झाड़ते रहे।हालांकि अधिकारियों के पहुंचने के बाद रेस्क्यू शुरू हुआ।गोताखोरों की मदद से एक बालक का शव बरामद किया गया,जबकि दो की तलाश जारी रही।थाना कुमारगंज के गांव के आठ लोग हसीब (13), मोहम्मद शरीफ (12), मोहम्मद मोईद (22), जसीम (22), रफी (55), निजामुद्दीन (16), वाजिद अली (22) व कय्यूम (32) अमेठी के जगदीशपुर में मुहर्रम की जियारत करने थानाक्षेत्र अंतर्गत कुड़वा घाट से नाव लेकर गौहर का पुरवा जा रहे थे।रात लगभग डेढ़ बजे के करीब नदी का बहाव तेज होने से नाव पलट गई।नाव पलटने के बाद जसीम, रफी, निजामुद्दीन, वाजिद अली व कय्यूम किसी तरह तैरकर बाहर निकले।वहीं अन्य तीनों पानी के बहाव में फंसे रहे।भोर में तीन बजे के करीब अपर पुलिस अधीक्षक अमेठी बीसी दुबे को सूचना मिली।उन्होंने जगदीशपुर एसओ श्याम सुंदर को मौके पर भेजा।वहीं कुमारगंज थानाक्षेत्र की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।गोताखोरों की मदद से खोजबीन शुरू की गई।सुबह एएसपी, सीओ मुसाफिरखाना सूक्ष्म प्रकाश भी मौके पर पहुंच गए।फैजाबाद से पीएसी के पहुंचने के बाद दोनों जिलों की टीमों ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।पांच घंटे बाद टीम ने मोहम्मद हसीब (13) पुत्र मोहम्मद शफीक निवासी पूरे झारियक कुमारगंज का शव नदी से बरामद किया।शेष दो शव अभी तक नही बरामद हो पाए है।

फैजाबाद के कुमारगंज क्षेत्र में गुरुवार/शुक्रवार की मध्य रात्रि गोमती नदी में नाव पलटने से उसमें सवार लाठ लोग डूब गए।पांच लोग तो तैरकर सुरक्षित बाहर आ गए लेकिन दो बालकों समेत तीन लोगों की जान चली गई।घंटों मशक्कत के बाद शुक्रवार की सुबह लगभग 11 बजे गोताखोरों ने एक एक शव को बाहर निकाला।जिसका नाम मो. हसीब (13)है।शेष अन्य दो मोहम्मद शरीफ (12) और मो. मुईद की तलाश जारी है।

थानाक्षेत्र की सीमा को लेकर हुआ हुई बहस

नदी में डूबने के बाद दोनों जिलों की पुलिस में थाना क्षेत्र की सीमा को लेकर बहस होने लगी। कुमारगंज पुलिस जहां घटना क्षेत्र अमेठी बता मामले से पल्ला झाड़ती रही।वहीं एएसपी अमेठी ने जगदीशपुर एसओ को बरामद शव को पंचनामा भरवाने का आदेश दिया।

12 घंटे से चल रहा रेस्क्यू ऑपरेशन

अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुबे ने बताया कि पीएसी फैजाबाद के साथ दोनों जनपद की पुलिस टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में शामिल रही फैजाबाद से स्टीमर भी मंगाया गया था।इसके साथ 20 गोताखोर भी लगाए गए थे।जिसके बाद एक शव को बरामद किया।दो अन्य की तलाश जारी है।इस मौके पर एसपी ग्रामीण संजय कुमार थाना अध्यक्ष कुमारगंज श्रीनिवास पांडे उपजिलाधिकारी मिल्कीपुर केडी शर्मा एसपी अमेठी बीसी दुबे थाना प्रभारी जगदीशपुर श्यामसुंदर सरोज समेत प्रशासनिक अधिकारी एवं भारी पुलिस बल घाट पर मौजूद रहा|

शॉर्टकट रास्ते से जाना बनी मौत की वजह

कहते है कि जब समय आ जाती है मौत अपनी ओर खींच ही लेती है।घटना से 1 किलोमीटर दूरी पर बने साथिन पुल से ये पैक ना जा कर नदी के रास्ते से जाना ही पायकों की मौत की वजह बन गई।यह बात घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने बताई।लोगों का कहना है यदि सभी लोग पुल से गये होते तो ये घटना न होती।

मृतक के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल

मृतक शरीफ अपने माता पिता का इकलौता बेटा था उसकी मां अमीना बानो रो रो कर बेहोश हो जा रही थी , घर आए रिस्तेदार उसे ढूंढस बंधाने में लगे रहे लेकिन आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे।शरीफ कक्षा एक का छात्र था वह पढ़ने में बड़ा होनहार था इस बार उसकी मान्यता थी कि वह पायक बन कर घर की परंपरा को निभाएगा।वहीं मृतक अब्दुल मुहीद अपने चार भाइयों में दूसरे नंबर का था वह कुछ दिन पहले ही सऊदी अरब से घर आया था उसकी शादी को भी अभी 6 माह भी नहीं हुए हैं पत्नी शबनम बेसुध पड़ी है लोग उस पर पानी के छींटे मार कर होश में लाने का प्रयास कर रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News