जब मनचलों को सबक सिखाने वाली दबंग लेडी IPS मंजिल सैनी का अपने ही क्लासमेट पर मचल गया था दिल

आईपीएस मंजिल सैनी यूपी ही नहीं पूरे देश में तेजतर्रार आईपीएस मानी जाती हैं। वो अपने काम करने के अंदाज के चलते ही लेडिज सिंघम के रुप में मशहूर हैं। मंजिल सैनी बताती हैं कि वो देश की पहली महिला आईपीएस किरण बेदी से बहुत प्रभावित हैं। जब पांचवीं में पढ़ती थी तो किरण बेदी उनके स्कूल में आई थी। जिनको देखकर मंजिल ने उसी दिन ठान लिया था कि वो आईपीएस बनकर देश की सेवा करेंगी। और मंजिल सैनी अपनी मेहनत से अपना सपना भी पूरा किया।

देश की पहली विवाहित महिला IPS हैं मंजिल सैनी

मंजिल सैनी देश की पहली विवाहित महिला आईपीएस है। मंजिल बताती हैं कि जब वो दिल्ली के स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में पढ़ते समय अपने क्लासमेट जसपाल को दिल दे बैठी थी। जिसके बाद दोनों ने शादी कर ली। शादी के बाद मंजिल के पति जसपाल ने उनका सपना पूरा करने में सहयोग दिया। मंजिल सैनी ने सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास करके देश की पहली विवाहित आईपीएस बनी। मंजिल सैनी अपने पति से बेशूमार प्यार करती है। ये बात कई बार सार्वजनिक रुप से स्वीकार भी कर चुकी है।

बता दें कि अपनी पहली पोस्टिंग में ही मंजिल सैनी अपने काम से नाम कमाया। दो साल की ट्रेनिंग के बाद मंजिल सैनी की पहली पोस्टिंग बतौर एसपी मुरादाबाद हुई। तब मंजिल सैनी ने एक लेबर की शिकायत पर बहुचर्चित किडनी रैकेट का भंडाफोड़ किया। जिसमें कई बड़े लोग बेनकाब हुए।

इटावा में अपराधियों पर बरपाया था कहर

मुजफ्फरनगर दंगे से पहले वहां एसपी मंजिल सैनी थी। जिन्होंने कानून व्यवस्था लगाम लगा रखी थी। लेकिन दंगों के कुछ दिन पहले उनका तबादला कर दिया गया। यही नहीं खूफिया विभाग की एक रिपोर्ट में भी यह दावा किया गया था कि साल 2013 में एसएसपी पद से मंजिल सैनी को नहीं हटाया गया होता तो दंगे ना होते। मंजिल सैनी सरकार के इस फैसले से दुखी होकर वह सीबीआई में जाना चाहती थी पर यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश अपने गृह जनपद इटावा ले गए। इटावा में उनका कहर अपराधियों पर इस कदर टूटा की मीडिया ने उनका नाम लेडी सिंघम रख दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News