गोरखपुर के आईजी जेएन सिंह की वरिष्ठ आईपीएस दीपक कुमार पर टिप्पणी से बढा विवाद…आईपीएस व्हाट्सअप ग्रुप से डीजीपी लेफ्ट हुए


लखनऊ। यूपी आईपीएस एसोसिएशन के व्हाट्सअप ग्रुप पर एडीजी आदित्य मिश्रा की पोस्ट पर गोरखपुर के आईजी जेएन सिंह द्वारा वरिष्ठ आईपीएस अफसर दीपक कुमार को लेकर की गई टिप्पणी के बाद विवाद इतना बढा कि डीजीपी ओपी सिंह ग्रुप से लेफ्ट हो गये। इस दौरान आईपीएस अफसरों ने एक-दूसरे पर जमकर कीचड उछाला। कल से लेकर आज देर रात तक एक-दूसरे पर की गई टीका-टिप्पणी के बाद गोरखपुर के आईजी जेएन सिंह ने माफी मांगते हुए एक पोस्ट डाली, जिस पर लखनऊ के आईजी सुजीत पांडेय ने भी बडप्पन दिखाते हुए विवाद को विराम देते हुए भविष्य में ऐसा न करने की कसम खाई।
जानकारी के अनुसार यूपी आईपीएस एसोसिएशन के व्हाट्सअप ग्रुप पर कल सुबह एडीजी आदित्य मिश्रा ने एक रिपोर्ट पोस्ट की, जिसमें लखनऊ के तत्कालीन आईजी जेएन सिंह द्वारा सीनियर आईपीएस अफसर दीपक कुमार को लेकर की गई प्रतिकूल प्रविष्टि के बारे में खुलासा किया। जेएन सिंह ने तत्कालीन लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार की गोपनीय रिपोर्ट में उन्हें नकारा अधिकारी लिखा था, जिस पर प्रमुख सचिव गृह ने आईजी जेएन सिंह की टिप्पणी को निरस्त कर दिया था। इस बात को लेकर विवाद इतना बढा कि आईपीएस एसोसिएशन दो गुटों में बंट गई। एक गुट वर्तमान में गोरखपुर के आईजी जेएन सिंह के पक्ष में हो गया, जबकि दूसरा गुट आईपीएस दीपक कुमार की तारीफों के पुल बांधने लगा। जेएन सिंह की टिप्पणी पर बढे विवाद के बाद लखनऊ के वर्तमान आईजी सुजीत कुमार पांडेय ने दीपक कुमार का पक्ष लेते हुए उन्हें अच्छा अफसर बताया। पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने भी ग्रुप पर एक ऑडियो वायरल कर दीपक कुमार को शानदार व लाजवाब अधिकारी बताया। दीपक कुमार लखनऊ, मुजफ्फरनगर, बागपत, इलाहाबाद, गाजियाबाद के एसएसपी रहे हैं। सभी जगह उनके काम को सराहा गया।
आईपीएस अधिकारियों की अंदरूनी जंग का अखाडा बने व्हाट्सअप ग्रुप पर हुई टीका-टिप्पणी से डीजीपी ओपी सिंह खफा हो गये और आज वे ग्रुप से लेफ्ट हो गये। इसके बाद आईपीएस एसोसिएशन को विवाद की गम्भीरता का अहसास हुआ। देर रात में जेएन सिंह ने व्हाट्सअप ग्रुप पर माफी का मैसिज पोस्ट किया। उन्होंने अपने मैसिज में कहा कि आगे से इस तरह की बातें ग्रुप पर नहीं होगी। उन्होंने पूरे विवाद पर खेद जताते हुए मामले को शांत करने का अनुरोध किया। जेएन सिंह द्वारा माफी का मैसिज पोस्ट किये जाने के बाद आईजी सुजीत कुमार पांडेय ने बडप्पन दिखाते हुए जेएन सिंह को धन्यवाद करते हुए मैसिज पोस्ट किया। उन्होंने अपने मैसिज में कहा कि यह सब लिखने के लिए ईमानदार और उदार दिल चाहिए। हम सब गुस्से की बलि चढ गये थे। उन्होंने आगे लिखा है कि यह सब महसूस करना दिखाता है कि आप एक बडे दिल वाले हैं। सुजीत पांडेय ने यह भी लिखा कि मैं सबसे प्रार्थना करता हूं कि अब इस मामले को यहीं पर खत्म कर दें और फिर से वहीं से शुरूआत करते हैं, जहां एक दिन पहले थे। उन्होंने आगे लिखा कि एक परिवार की तरह शपथ लें कि भविष्य में इस तरह की चीजें दोबारा नहीं होंगी। बहरहाल यूपी आईपीएस एसोसिएशन के व्हाट्सअप ग्रुप पर शुरू हुई दो आईपीएस अधिकारियों की जंग व्हाट्सअप पर ही खत्म हो गयी। भावनाओं में बहे दोनों अधिकारियों ने आज अपनी गलती को स्वीकारा और एक-दूसरे से माफी मांगकर निपटारा कर दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News