अयोध्या : सीओ रुदौली रहे सत्येंद्र भूषण तिवारी को दी गई भावभीनी विदाई

0

अपने 1 वर्ष 14 दिन के कार्यकाल में कई पुराने चर्चित घटनाओं का किया पर्दाफाश,विदाई के वक्त खाकी की आंखों से बह चले आंसू

रूदौली(अयोध्या)! वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राज करन नैय्यर ने तीन पुलिस क्षेत्राधिकारियों को इधर से उधर किया।स्थानांतरण के क्रम में अब तक रुदौली सर्किल की कमान संभाले रहे सत्येंद्र भूषण तिवारी को एसएसपी ने प्रोटोकॉल व बीआईपी सेल की बागडोर सौंपी है।शनिवार को सीओ कार्यालय रुदौली में सर्किल के सभी थाना प्रभारी व अन्य पुलिस कर्मियों ने एक विदाई समारोह का आयोजन कर सीओ सत्येंद्र भूषण तिवारी को भावभीनी विदाई दी।इनका करीब एक वर्ष 14 दिन का कार्यकाल बहुत ही सराहनीय रहा।अपने एक वर्ष के कार्यकाल में इन्होंने कई बड़ी घटनाओं का पर्दाफाश किया।

सर्किल का चार्ज संभालते ही सीओ सत्येंद्र भूषण त्रिपाठी के सामने सीमा पर तांडव मचा रहे साइको किलर जो पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था।उसके द्वारा मवई थाना क्षेत्र में कारित घटना का 24 घंटे के अंदर पर्दाफाश करते हुए उसे दबोच लिया गया था।इस सफलता के बाद सीओ की अयोध्या जनपद के अलावा पड़ोसी जिले बाराबंकी में भी खूब वाहवाही हुई।इसके बाद रुदौली स्टेट बैंक में दिनदहाडे हुई लगभग बीस लाख की चोरी के लंबित मामले का भी खुलासा किया।नवनिर्मित बाबा बाजार थाना क्षेत्र का उद्घाटन कराने के बाद इस थाना क्षेत्र में हुई दो बड़ी चर्चित घटना का भी खुलासा करते हुए हत्यारे व बच्चों से अश्लीलता करने वाले शिक्षक को जेल भेजा था।इसके अलावा ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत पूरे सर्किल में लगभग 4500 कैमरे लगवाकर रौजागांव के समीप कलेक्शन एजेंट से हुई लूट की घटना का भी पर्दाफाश किया।हाइवे पर गैस टैंकर की घटना में भी आमजन राहगीरों की सुरक्षा के लिए 24 घण्टे बिना कुछ खाए पिए पानी मे भीगते हुए हाइवे पर देवदूत बनकर खड़े रहे।इसमें भी सीओ के कार्यो की खूब सराहना हुई।2016 बैच के पीपीएस अफसर सत्येंद्र भूषण तिवारी अयोध्या जिले के बीकापुर में डेढ़ वर्ष मिल्कीपुर में 7 माह व रुदौली में एक वर्ष 14 दिन का सराहनीय कार्यकाल रहा।

विदाई समारोह में कोतवाल देवेंद्र सिंह,बाबा बाजार प्रभारी राजेश सिंह, पटरंगा प्रभारी ओम प्रकाश,भेलसर चौकी प्रभारी मनीष चतुर्वेदी, उप निरीक्षक वंशराज सिंह, शंकर लाल यादव, कांस्टेबल संजय कुमार, मोहम्मद ताहिर खान, सौरभ मिश्रा, रेनू अंकित यादव, संकटा प्रसाद, रामकिशन आदि पुलिसकर्मी मौजूद रहे।सीओ सत्येंद्र भूषण तिवारी ने सभी का आभार प्रकट करते हुए मीडिया से मुखातिब होते हुए बोले कि वास्तव में ये स्टॉफ और यहां के लोगों को मैं अपने जीवन में कभी नही भूल पाऊंगा।इन्होंने कहा कि ट्रांसफर एक विधिक प्रक्रिया है।मुझे सरकार व उच्च अधिकारियों द्वारा जो दायित्व दिया गया।उसका निष्ठा पूर्वक निर्वहन किया।भविष्य में शासन की मंशानुरूप जनहित के लिए कार्य करता रहूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News