विश्व वानिकी दिवस : मां बाप जन्मदाता तो पेड़ पौधे हमारे जीवनदाता है-वी0के0 शुक्ल

अयोध्या वन प्रभाग के रूदौली वन रेंज में मनाया गया विश्व वानिकी दिवस

इस अवसर पर आयोजित गोष्ठी में पेड़ पौधों की सुरक्षा को लेकर की गई अपील

मवई(अयोध्या) ! अयोध्या वन प्रभाग अंतर्गत रुदौली वन रेंज कार्यालय परिसर में स्थित बसौड़ी पौधशाला पर सोमवार को विश्व वानिकी दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।इस अवसर पर एक जनजागरूकता गोष्ठी का भी आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता वन क्षेत्राधिकारी रूदौली ओम प्रकाश व संचालन डिप्टी रेंजर वीरेंद्र तिवारी किया।कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित डॉयट के प्रवक्ता वी0के0 शुक्ल ने विश्व वानिकी दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मौजूद लोगो को बधाई देते हुए वनों की रक्षा के लिए व्यापक जनभागीदारी की अपील की है।उन्होंने कहा है कि वन और जीवन दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं।प्राणी के जन्मदाता यदि मां बाप है तो ये पेड़ पौधे हम सबके जीवनदाता है।वही क्षेत्र के वरिष्ठ साहित्यकार डा0 अनवर हुसैन ने गोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा वर्षों पहले लिए गए फैसले के अनुरूप पूरी दुनिया में वनों की सुरक्षा और उनके संवर्धन कार्यों के प्रति जन-जागरण के लिए विश्व वानिकी दिवस का आयोजन किया जाता है।अध्यापक भाई लाल यादव ने कहा कि हरे -भरे वनों से मानव जीवन का गहरा संबंध है।अच्छी बारिश,स्वच्छ हवा और बहुमूल्य जीवन रक्षक जड़ी-बूटियों के लिए और सुन्दर जैव विविधता के लिए वनों का होना बहुत जरूरी है।वही पूर्व माध्यमिक विद्यालय पूरे शाहलाल के प्रधानाध्यापक कलीम अहमद ने गोष्ठी मौजूद लोगों को बताया कि जब तक दुनिया मे वन हैं, तब तक हमारा जीवन है।वही क्षेत्र के वरिष्ठ व्यंगकार डा0 अल्हण द्विवेदी ने अपने काव्य के माध्यम से बताया कि वनों के माध्यम से हम ऑक्सीजन के रूप में एक ऐसी ऊर्जा का संचय करते है।जो हमारे तन और मन को स्वस्थ और आनंददायक बनाने में सहायक होती है।अंत में कार्यक्रम कार्यक्रम में प्रतिभागी सभी अतिथिजनों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए वन क्षेत्राधिकारी ओम प्रकाश ने कहा कि हमें यह स्वीकार करने में थोड़ा भी संकोच नहीं करना चाहिए कि आधुनिक युग में भौतिक विकास की तेज रफ्तार की वजह से पिछले कुछ दशकों में पूरी दुनिया में वनों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है।इसके फलस्वरूप मानव जीवन के सामने ग्लोबल वार्मिंग जैसी कई तरह की गंभीर चुनौतियां भी खड़ी हो गई है।इसलिए हमारा कर्तव्य है कि सब मिलकर अपनी वर्तमान और भावी पीढ़ियों के जीवन को सुखमय बनाने के लिए वनों की रक्षा करें।अधिक से अधिक संख्या में पेड़ लगाएं और पेड़ पौधों वनों को आग से भी बचाया जाए।इस अवसर पर बसौड़ी प्रधान पति नाजिद अली राजेश वर्मा राम अवध अरविंद मिश्र हरिशंकर यादव भगौती शीतला यादव मोल्हे यादव राम केवल जगदीश यादव आदि लोग कार्यक्रम में मौजूद रहे।

जंगलों को आग से बचाने के लिये भी किया जागरूक

सोमवार को रुदौली वन रेंज में विश्व वानिकी दिवस पर आयोजित गोष्ठी के दौरान वनों को आग से बचाने के लिए भी वन क्षेत्राधिकारी ओम प्रकाश ने लोगो को जागरूक किया।इसमें लोगों को जंगलों की सुरक्षा के प्रति जानकारी देते हुए कहा कि आग लगने से जंगलों को भारी नुकसान होता है।वहीं जंगली जानवरों के जीवन पर भी संकट खड़ा हो जाता है।इन्होंने कहा कि जंगलों को आग से बचाने के लिए सभी लोगों को जागरूक होना होगा।जब वन बचेंगे तभी हमारा जीवन सुरक्षित होगा।इसलिये लोगों को जंगलों की सुरक्षा में वन विभाग का सहयोग करना चाहिए।

पौधशाला का भ्रमण कर परिषदीय बच्चों ने ली पौध तैयार करने की जानकारी

विश्व वानिकी दिवस पर आयोजित गोष्ठी में शामिल होने आए परिषदीय स्कूल के बच्चों ने बसौड़ी पौधशाला का भ्रमण किया।और पौध तैयारी को लेकर विस्तृत जानकारी ली।नर्सरी प्रभारी शीतला प्रसाद यादव ने बच्चों को पौधशाला की प्रत्येक क्यारियों का भ्रमण कराकर मिस्ट चैंबर व ग्रीनहट में रोपित पौधों की जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News