खेलते-खेलते कुएं में गिरा मासूम, दुश्‍मन पड़ोसी ने किया ऐसा काम… मिट गई रंजिश

बहराइच, । जिले में एक युवक ने बहादुरी की मिसाल कायम की। चार साल के मासूम की जान बचाने के लिए युवक कुंए में कूद पड़ा और जाबांजी के साथ उसे बाहर निकाल लिया। खास बात यह है कि युवक की अपने पड़ोसी से लड़ाई चल रही थी। इसके बावजूद भी उसने इंसानियत का धर्म निभाया।

यह है मामला

मामला हरदी थाना क्षेत्र के छीटनपुरवा गांव का है। यहां के निवासी सुशील बाजपेई का चार वर्षीय बेटा किशन बाजपेई घर के बाहर अपनी 6 वर्षीय बहन आर्या बाजपेई के साथ खेल रहा था। खेलते-खेलते वह दरवाजे के पास मौजूद गहरे कुएं में जा गिरा। कुएं के पानी में मासूम के गिरने की आवाज सुनकर बहन आर्या सहम गई। उसने शोर मचाना शुरू कर दिया।

शोर सुनकर आसपास के लोग मौके पर दोड़े, लेकिन किसी की भी हिम्‍मत नहीं पड़ी कि उसे कोई कुएं से बाहर निकाल लेता। इसी समय पड़ोसी रमेश कुमार मौके पर पहुंच गया और बिना समय पानी से लबाबल कुएं में कूद गया। बच्‍चे को पकड़ने के बाद ऊपर मौजूद लोगों ने कुएं में रस्‍सी फेंकी जिसे पकड़कर दोनों लोग सकुशल बाहर निकाल आए।

बहादुरी से रमेश ने जीता सबका दिल

खास बात यह थी कि रमेश की उनके पड़ोसी सुशील बाजपेई से नही बनती थी। दोनों परिवारों के बीच किसी बात को लेक्ट कुछ मनमुटाव और झगड़ा भी चल रहा था। बावजूद इसके रमेश ने अपने जान की बाजी लगाकर मासूम की जिंदगी बचाई। रमेश की जाबाजी लोगों की जुबां पर है। लोग उनकी सराहना करते नहीं थक रहे हैं। वहीं इस घटना के बाद से दोनों परिवारों के बीच चल रहे मनमुटाव भी खत्‍म हो गया। बच्चे को सकुशल पाकर माता पिता के खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

बाढ़ आपदा के गोताखोरों की सूची में है रमेश

महसी: तहसील प्रशासन द्वारा बाढ़ राहत के लिए बनाई गई स्थानीय गोताखोरों व तैराकों की सूची में भी रमेश कश्यप का नाम दर्ज है। एसडीएम सुरेंद्र नारायण त्रिपाठी ने बताया कि रमेश ने बहुत बहादुरी दिखाई हैं। उन्हें सम्मानित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News