चैत्र का नवरात्र आज से प्रारंभ,कामाख्या धाम पर समाजसेवी विनोद सिंह ने लगाया कैम्प

रुदौली (अयोध्या) : कई जनपदों की सीमा व आदि गंगा के तट पर सुनबा गांव के घने जंगलों के बीच विराज मान माँ कामाख्या देवी मंदिर पर नव रात्रि में होने वाले कार्यक्रमों की तैयारियाँ अंतिम दौर में चल रही है ।मन्दिर की रँगाई पुताई के बाद सफाई व्यवस्था का कार्य पूरे मेला प्रांगड़ गुरुवार को बड़े जोर शोर से दिखाई दिया ।
बताते चले कि नवरात्र के पावन अवसर पर पूरे देश में अलग अलग विधाओं और अलग-अलग परंपराओं के अनुसार देवी मां की आराधना की जाती है। इसी कड़ी में रुदौली क्षेत्र के सोनबा में स्थित मां कामाख्या देवी मंदिर में हजारो भक्तों की भीड़ जमा होती है। और बड़ी श्रद्धा के साथ देवी मां के भक्त मां कामाख्या देवी के दर्शन और पूजन करते हैं।वैसे तो प्रत्येक सोमवार और शुक्रवार को भी यहां मेला लगता है लेकिन वर्ष दोनो नवरात्रों का यहाँ विशेष महत्व है। घने जंगलों के बीच स्थित इस प्राचीन देवस्थान के बारे में तमाम किवदंतियां हैं और देवी मां के चमत्कारों की कहानियां है इसी कारणवश प्राचीन मंदिर पर भक्त श्रद्धालुओं की भीड़ जमा होती है।

पड़ोस के जनपदों के श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है मंदिर :

रुदौली ।
तहसील मुख्यालय से करीब 22 किलोमीटर दूर सोनबा के घने जंगलों के बीचोबीच मां कामाख्या भवानी का यह मंदिर क्षेत्रीय नहीं बल्कि अयोध्या के पड़ोस के जनपद अमेठी, बाराबंकी, सुल्तानपुर, गोंडा, बस्ती,बलरामपुर, अंबेडकर नगर सहित अन्य जनपदों के भक्तों के लिए भी आस्था का केंद्र है। पौराणिक मान्यता के अनुसार मां कामाख्या भवानी का इतना पुण्य प्रताप है जंगल में रहने वाले जीव जंतु भी उनके दर्शनों के लिए इस मंदिर में आते हैं ।

नवरात्र के दिनों में मंदिर में होते हैं धार्मिक आयोजन :

रुदौली ।वर्ष में पड़ने वाले दो नवरात्र वासंतिक नवरात्र और शारदीय नवरात्र में इस प्रसिद्ध सिद्ध पीठ में विशेष आयोजन किए जाते हैं मंदिर के मुख्य पुजारी ब्रज किशोर मिश्रा ने बताया कि इस वर्ष भी मां कामाख्या भवानी धाम पर सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा का आयोजन किया गया है। श्रीमद भागवत कथा 6 अप्रैल से शुरू होकर 14 अप्रैल तक सुश्री शशि कुमारी शास्त्री के मुखारबिंद से होगी। 11 अप्रैल को रात्रि में विशाल जवाबी कीर्तन कानपुर की क्रांति माला शंभू हलचल के द्वारा होगा। जिस में शामिल होने के लिए दूर-दूर से भक्त श्रद्धालु आते हैं। वही प्रतिदिन बड़ी संख्या में मां भक्त हलवा और पूरी का प्रसाद चढ़ा कर मां का आशीर्वाद लेते हैं और यह मेला पूरे वासंतिक नवरात्र भर चलेगा।

समाजसेवी विनोद सिंह का मेला परिसर में 9 दिन चलेगा भंडारा

रुदौली।जिले के प्रतिष्ठित समाजसेवी विनोद कुमार सिंह द्वारा नवरात्रि के प्रथम दिन प्रथम दुर्गा माँश्री शैल पुत्री के पूजन अर्चन के बाद भंडारे की भव्य शुरुवात हो जाएगी।पूरी नवरात्रि चलने वाले इस भंडारों में हजारों की संख्या में श्रद्धालु प्रसाद ग्रहण करते है।समाजसेवी विनोद कुमार सिंह ने बताया कि माता कामाख्या का मंदिर सच्चे दरबार के लिए विख्यात है ।माता कामाख्या भक्तो की मनोकामना पूर्ण करती ।श्री सिंह ने बताया कि यह भंडारा पिछले 12 वर्षों से वर्ष के दोनों नवरात्रों पर चलता है जिसमे भारी संख्या में श्रद्धालु प्रसाद ग्रहण करते है ।मेला प्रांगड़ में समाज सेवी विनोद सिंह द्वारा रैन बसेरा भी बनवाया गया जहां श्रद्धलुओं के रुकने की भी निशुल्क व्यवस्था है ।

सुरक्षा व्यवस्था भी रहेगी चाकचौबंद-

रुदौली-पुलिस क्षेत्राधिकारी डॉ धर्मेंद्र यादव ने बताया मेला परिसर की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रहेगी ।अतिरिक्त फोर्स के साथ जिले फोर्स मेला परिसर में तैनात रहेगी ।इसके अलावा मेला परिसर में खोया पाया केंद्र के साथ साथ सीसीटीवी कैमरे में भी लगाये गए है ।आरजकतत्वों पर पुलिस की विशेष नजर रहेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News