फतेहपुर में हाथ-पैर काट दे दी बच्ची की बलि, ग्रामीण सड़क पर उतरे


होली की शाम से लापता डेढ़ वर्षीय बच्ची का शव सोमवार को नाले में मिलने से सनसनी फैल गई। बच्ची का एक हाथ और पैर कटा होने के साथ ही श्रंगार देख ग्रामीण भड़क गए। बलि के लिए बच्ची की हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए लोगों ने शव रखकर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर पुलिस जबरन बच्ची का शव लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा तो गुस्साए ग्रामीणों ने नारेबाजी करते हुए कोतवाली के सामने सड़क पर ही बैठ गई। इससे मुगलमार्ग पर भीषण जाम लग गया। पुलिस लोगों को समझाने का प्रयास कर रही है।
कोतवाली क्षेत्र के नन्दापुर गांव निवासी मुकेश कुशवाहा की बेटी कंचन 21 मार्च को घर के बाहर से रहस्यमय तरीके से गायब हो गई थी। मुकेश ने गुमशुदगी दर्ज कराई। चार दिनों तक परिजन और पुलिस बच्ची को खोजते रहे, लेकिन वह नहीं मिली। सोमवार शाम गांव के पास ही सैमसी नाले में बच्ची का शव सफेद कपड़े में लिपटा मिला। उसका एक हाथ और एक पैर कटा था, साथ ही बच्ची का सिंदूर आदि से श्रंगार किया गया था। बलि की आशंका पर लोग उग्र हो गए। सैकड़ों ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और हंगामा करने लगे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने काफी मशक्कत कर शव कब्जे में लेकर कोतवाली चली गई। इसपर आक्रोश और बढ़ गया। ग्रामीण दो ट्रैक्टर-ट्राली में भरकर कोतवाली पहुंच गए और मुगलमार्ग पर जाम लगा दिया। पुलिस समझाने का प्रयास करती रही, लेकिन हटने का नाम नहीं ले रहे हैं। देर रात तक जाम की वजह से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं।
पुलिस जांच कर रही है
सीओ बिंदकी अभिषेक तिवारी ने कहा कि बच्ची का क्षत-विक्षत शव नाले में मिलने पर परिजन बलि के लिए हत्या किए जाने की आशंका जता रहे हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News