अयोध्या को वर्ड क्लास सिटी बनाने के लिए पीएम मोदी ने मांगी कार्ययोजना : सीएम योगी

अयोध्या

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भावना के अनुरूप नई अयोध्या को विकसित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने अयोध्या को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने के लिए कार्ययोजना मांगी थी जिसे अंतिम रूप दे दिया गया है। मुख्यमंत्री योगी रविवार को अयोध्या के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अयोध्या पर देश और दुनिया की निगाह है।
प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप अलग-अलग विभागों से जुड़ी योजनाओं के तहत अयोध्या में विकास कार्यों को आगे बढ़ाया जा रहा है। सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री के निर्देश पर अयोध्या के विकास की कार्ययोजना को अंतिम रूप देने के लिए बैठक आयोजित की गई। बैठक में संबंधित विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और अन्य विभागाध्यक्षों ने अपने प्रोजेक्ट के बारे में बताया।सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या वास्तव में जिस प्रकार के आध्यात्मिक विकास के साथ भौतिक विकास की हकदार थी उस प्रकार की प्रक्रिया को अब तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। पर्यटन, संस्कृति, लोक निर्माण, आवास, नगर विकास और परिवहन समेत अन्य विभाग अपने कार्यों को आगे बढ़ाएंगे। अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के निर्माण की प्रक्रिया जारी है। मेडिकल कॉलेज निर्माण के अंतिम चरण में है। देश के विभिन्न राज्यों की ओर से यहां पर स्टेट गेस्ट हाउस का निर्माण कराया जाएगा। अलग-अलग धर्मों के प्रमुखों की ओर से धर्मशालाओं का निर्माण होगा। हरिद्वार की हर की पैड़ी की तर्ज पर राम की पैड़ी में सरयू का अविरल जल प्रवाह होगा एनएचएआई के साथ मिलकर रिंग रोड का कराया जाएगा निर्माण मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या में सड़कों के चौड़ीकरण, अंडरग्राउंड केबिल और पार्किंग की बेहतर व्यवस्था की जाएगी। बैठक में ऐसे तमाम बिंदुओं पर चर्चा कर कार्ययोजना तैयार की गई है। सुरक्षा प्लान पर चर्चा की गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किए जाने के बाद अयोध्या में श्रद्धालुओं की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। पर्यटन की अपार संभावना बन रही है। इससे रोजगार में भी वृद्धि होगी। एनएचएआई के साथ मिलकर रिंग रोड का निर्माण कराया जाएगा।सड़कों के चौड़ीकरण के साथ पुर्नवास की भी व्यवस्था की जाएगी। उजड़ने वालों को व्यवसायिक काम्पलेक्स बनाकर दिया जाएगा जिससे उनकी आजीविका चलती रहे। इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने अयोध्या प्रवास के दौरान रामजन्मभूमि परिसर में विराजमान रामलला का दर्शन किया। राम मंदिर निर्माण के लिए नींव के खुदाई कार्य का निरीक्षण किया। एलएंडटी के विशेषज्ञों के माध्यम से मंदिर निर्माण के प्रोजेक्ट को मैप के माध्यम से समझा। हनुमानगढ़ी में भी दर्शन किया। रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास से मुलाकात की। इसके बाद समीक्षा बैठक में भाग लेकर वाराणसी के लिए रवाना हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News