अयोध्या: जिले में मनरेगा योजना अन्तर्गत 921 कार्य शुरू,569 ग्राम पंचायतों में 14700 कामगारों को मिला रोजगार

लॉक डाउन के दरमियान गांव की अर्थव्यवस्था सुधारने में जुटे अफसर

अयोध्या ! कोरोना वायरस से बचाव को लेकर देश में चल रहे लॉक डाउन के दरमियान गांव की अर्थव्यवस्था सुधारने में अफसर जुट गए है।जिले के मजदूरों को मनरेगा से संचालित योजनाओं में काम मिलने लगा है।डीसी मनरेगा नागेंद्र मोहन राम त्रिपाठी ने बताया कि शासन के निर्देश के बाद सोमवार को जिले के 569 ग्रामपंचायतों 921 कार्य प्रारंभ कराए गए है।जिसमें लगभग 14700 कामगारों को रोजगार दिया गया है।शेष ग्राम पंचायतों में भी शीघ्र ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा।जिससे गांव के मजदूरों को काफी सहुलियत मिलने की संभावना अब बनने लगी है।श्री त्रिपाठी ने कहा कि जिले सभी बीडीओ को आदेश दिया जा चुका है कि हर गांव में मनरेगा से योजनाओं का संचालन तत्काल आरंभ करवाएं ताकि मजदूरों को काम मिल सके।निर्देश के क्रम इन्होंने ये भी कहा कि जो भी मजदूर काम मांगे उसे तत्काल मनरेगा योजना से काम उपलब्ध कराएं।और साथ ही उन्हें भुगतान भी समय पर करें।इन्होंने गंवई सरकार का भी आवाहन करते हुए कहा कि मनरेगा मजदूरों को काम उपलब्ध कराने में पुरी सक्रीयता दिखाएं।

मवई ब्लॉक के 28 ग्राम पंचायतों में शुरू हुआ काम

मवई ब्लॉक के कुल 55 ग्राम पंचायतों में से 28 ग्राम पंचायतों में मनरेगा का कार्य शुरू हो चुका है।मखदूमपुर के प्रधान नसीम खा ने बताया ग्राम सभा के झगरूवा तालाब में खुदाई का कार्य चल रहा है।सोमवार 26 मजदूर लगाए गए जिसमे 6 महिला कामगार भी शामिल है।इसके अलावा नूरपुर गांव के लुहारन तालाब व मवई में मिट्टी पटाई का कार्य चल रहा है।तकनीकी सहायक मनरेगा आशीष तिवारी ने बताया कि सुल्तानपुर,पटरंगा डिलवल बाबूपुर, कोड़रा,भटमऊ,नौगवाडीह,चंद्रामऊ बैरम,मंगा, आदि गांवों में मास्क सेनेटाइजर के साथ हाथ धुलने व पानी पीने आदि की व्यवस्था के साथ मनरेगा के काम शुरू कराया गया है।

गांव के साथ साथ परदेशी कामगारों के लिए वरदान बनी मनरेगा

इस समय पूरे जिले में मनरेगा के काम लगभग शुरू हो चुका है।जिसमें गांव के कामगारों के साथ साथ परदेशी बाबू लोगों को भी रोजगार दिया जा रहा है।बीडीओ मवई राम विलास राम ने बताया कि 28 गांवो में काम चल रहा है।तमसा नदी के किनारे लगे पौधे के निराई गुड़ाई व सिंचाई के काम मे 32 कामगारों को लगाया गया है।जिसमें कुछ कामगार लॉक डाउन के दौरान परदेश से वेरोजगार होकर यहां आए है।

15 दिन के अंदर मिलेगी मजदूरी

डीसी मनरेगा नागेंद्र मोहन राम त्रिपाठी ने बताया मनरेगा में काम करने वाले कामगारों को 15 दिन अंदर उनका भुकतान कर दिया जाएगा।इन्होंने बताया जो कामगार बाहर से आये है और जॉबकार्ड नही था उनका जॉबकार्ड बनवा दिया गया है। यदि खो गया था तो नया जॉबकार्ड जारी करवाकर काम चाहने वालों को रोजगार दिलवाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News