औरैया:मंदिर पर कब्जे के विवाद में सपा एमएलसी कमलेश पाठक के भाई ने चलाई गोली, दो की मौत

औरैया (Uttar Pradesh) । वर्चस्व को लेकर सपा और बसपा पक्ष के दो गुटों में ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। गोलीबारी के बीच अधिवक्ता और उसकी बहन की मौके पर मौत हो गई। घटना की सूचना पर पहुंचे डीएम एसपी ने मामले की छानबीन शुरु कर दी है। पुलिस ने विरोधी पक्ष के सपा एमएलसी व पूर्व राज्यमंत्री कमलेश पाठक और उनके दो भाइयों समेत 6 लोगों को हिरासत में लिया है। भारी संख्या में पुलिस फोर्स गांव में तैनात किया गया है। घटना औरैया जिले में सदर कोतवाली क्षेत्र के नरायनपुर गांव की है।

ये है पूरा मामला

सपा के पूर्व राज्यमंत्री कमलेश पाठक वर्तमान में सपा से विधान परिषद सदस्य अपने गांव में स्थित एक मंदिर में दर्शन करने के लिए गए थे। आरोप है कि किसी बात को लेकर नाजार वहां दूसरे पक्ष से अधिवक्ता और बसपा नेता मंजुल चौबे व उनके साथियों ने उन पर हमला कर दिया। इस दौरान कमलेश पाठक वहां से बचकर किसी तरह से निकले और साथियों के साथ पुलिस को जानकारी दी।

भाई-बहन की मौत
घटना की जानकारी होने पर गांव पहुंचे पूर्व राज्यमंत्री कमलेश पाठक पक्ष और मंजुल चौबे पक्ष के बीच आमने-सामने जमकर फायरिंग हुई। जिसमें मंजुल चौबे और उनकी बहन सुधा की गोली लगने से मौत हो गई। इस समय गांव पूरा छावनी बना हुआ है। आरोप है कि कमलेश पाठक पक्ष से संतोष पाठक ने अपनी लाइसेंसी राइफल से मंजुल चौबे और उसकी बहन पर गोली दागी है। घटना को लेकर कोहराम मचा हुआ है। फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाएं हैं।

हिरासत में लिए गए पूर्व राज्यमंत्री समेत 6 लोग
पुलिस ने विरोधी पक्ष के सपा एमएलसी कमलेश पाठक और उनके दो भाइयों समेत 6 लोगों को हिरासत में लिया है। बता दें कि घटना के दौरान मौके पर मौजूद लोगों ने भाग कर किसी तरह अपनी जान बचाई। एसपी ने बताया कि गोली एमएलसी कमलेश पाठक के भाई संतोष पाठक की ओर से चलाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News