बेसहारा गौवंशों का सरंक्षण ही सबसे बड़ा मानव धर्म…… हरिओम

0

बेसहारा गौवंशों का सरंक्षण ही सबसे बड़ा मानव धर्म…… हरिओम

बच्चों को संस्कारवान बनाना ही सबसे बड़ी पूँजी

अयोध्या फैज़ाबाद

बेसहारा गौवंशो के सरंक्षण संबंधी बैठक को संबोधित करते हुये जिले के प्रख्यात समाजसेवी व उद्दोगपति हरिओम तिवारी ने कहा की बेसहारा गौवंशो का सरंक्षण करना हम लोगों का मानवीय धर्म है।
गायें पीढ़ी दर पीढ़ी हमें तथा हमारे बच्चों को पोषित करती हैं बावजूद इसके चालाकी वश नादान मनुष्य बूढ़ी होते ही उन्हें व उनके बछड़ो का पालन पोषण न करके उन्हें बेसहारा छोड़ देता है, जिससे पशुओं ही नहीं अपितु मानव का भी जीवन खतरे में पड़ जाता है। गौवंशों के सरंक्षण सम्बंधी यह बैठक बरसेंडी गांव स्थित केशव गौधाम गौशाला के संचालक अजयपाल सिंह के नेतृत्व में आयोजित थी, बैठक का संचालन सरंगापुर पूर्व प्रधान जयप्रकाश सिंह व अध्यक्षता पूर्व प्रधान शिवबक्श सिंह पिंटू ने की।
बैठक को संबोधित करते हुये श्री तिवारी ने कहा कि पुरातन ज़माने से जिस तरह हम लोग अपने पालतू पशुओं को अग्रासन के रूप में देते हुये आ रहे हैं, उसी तरह मानवता का धर्म है कि गौशालाओं में निरुद्ध बेसहारा पशुओं के पोषण हेतु हमें थोड़ा थोड़ा आनाज या धन प्रतिदिन निकालकर गौशालाओं में दान करना चाहिये। तिवारी ने कहा कि जानवरों के छुट्टा छोड़ देने से भविष्य में किसानों की खेती तो चौपट होती ही है साथ ही साथ उनके आय व जान के दुश्मन बन जाते हैं। श्री तिवारी ने कहा विभिन्न प्रकार के संचार माध्यमों से जरिये युवाओं में जिस तरह से नैतिकता का क्षरण होता जा रहा है, वह धार्मिक ग्रंथों के अध्ययन तथा गुरुओं महापुरषों का अनुसरण करने से सकारत्मकता आयेगी व उनमें सुधार आयेगा..! इस अवसर पर हरिओम तिवारी के अनुग्रह पर वहाँ उपस्थित लोगों ने कुछ ही मिनटों में 11 हजार रुपये इकट्ठा कर गोशाला संचालक अजय सिंह को जानवरों के चारे भूसे हेतु दे दिया। इस अवसर पर पिरखौली प्रधान प्रतिनिधि व कप्तान तिवारी, देवई प्रधान मालेंद्र तिवारी, कुबेरदत्त मिश्र, शिक्षक पटेश्वरी सिंह, पूर्व प्रधानकालीप्रसाद विश्वकर्मा, सुरेंद्र सिंह, कुँवर बहादुर सिंह, सुनील सिंह, राजेन्द्र गोस्वामी तथा सैकङो लोग मजबूत रहो..!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News