लोकतंत्र के महाकुंभ में युवाओं के साथ बुजुर्गों ने डुबकी लगाने के बाद अब नतीजे को लेकर लगा रहे कयास

इस बार के युवा मतदाताओं ने जहां स्वास्थ्य, शिक्षा और बेरोजगारी,महिला सुरक्षा को मुद्दा बनाकर किया मतदान वहीं बुजुर्गों ने राष्ट्रीय सुरक्षा,देश के विकास के हित में किया मतदान

राजेन्द्र तिवारी”राजन”

सोहावल(अयोध्या) ! लोकतंत्र के महाकुंभ में युवा क्या बुजुर्गों ने भी पूरे उत्साह के साथ इस बार डुबकी लगाई।चुनाव में मतदान करने के बाद अब लोग जीत हार का कयास लगा रहे।इस दौरान लोग शर्त तक लगाने से नही चूक रहे।बता से 6 मई सोमवार को 54 लोकसभा चुनाव में नए युवा मतदाताओं के साथ उम्र दर्ज वृद्ध महिला और पुरुष मतदातओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। अपनी-अपनी पार्टी के पदाधिकारी और समर्थक भी बूथों पर पहुचंकर अपने प्रत्याशी के पक्ष में मतदान किया। वहीं कई बूथों पर भारी गर्मी और चिलचिलाती धूप को देखते हुए ग्राम प्रधानों ने भी मतदाताओं के लिए ठंडा आरओ वाटर के साथ गुड़ – बतासे की व्यवस्था बनाए रखा था।

फाइल फोटो-छात्रा प्रज्ञा सिंह

सोमवार को हुए मतदान में ग्राम बभनियावा में पोलिंग स्टेशन पर पहली बार मतदान करने पहुंची बीएससी की छात्रा प्रज्ञा सिंह ने अपना वोट डालकर मतदान कक्ष से बाहर निकली तो उनके चेहरे की चमक बढ़ चुकी थी। उन्होंने ने ‘चौपाल परिवार’ को बताया कि मतदान हमारा कर्तव्य है, देश के विकास के मुद्दे पर इन्होंने मतदान किया है।

फाइल फोटो-समीक्षा सिंह

जबकि ग्रेजुएशन कम्प्लीट कर चुकी पहली बार मतदान करने पहुंची समीक्षा सिंह मतदान के बाद बहुत अच्छी फीलिंग महसूस कर रही थी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र और देश के विकास के बारे में बेहतर सोच और महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान देने वाला सशक्त पीएम को केंद्रीत कर इन्होंने अपना वोट किया है। पीएम । इसे लेकर इन्होंने अपना मतदान किया है। जबकि ग्राम अंडर ग्रेजुएशन की छात्रा को शिक्षा व्यवस्था में बेहतर और महिलाओं की सुरक्षा में सरकार का विशेष ध्यान रहे। इस मुद्दे के समर्थन में अपना मतदान किया है।

फाइल फोटो-शिक्षिका सुषमा विश्वकर्मा

वही ड्योढ़ी बाजार में एक निजी स्कूल की युवा मतदाता पहली बार मतदान करने जा रही शिक्षिका सुषमा विश्वकर्मा ने देश में बेरोजगारी को दूर करने के साथ शिक्षा-स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाली सरकार की अपेक्षाएं जताई है।

वही शिक्षक नेता ज्ञान स्वरूप की करीब अस्सी वर्षीय वृद्ध और चलने में लाचार मां शोभावती को नाती रोशन गोद में उठाकर मतदान बूथ पर ले गया और वोट डलवाया। वृद्ध शोभावती हाथ में निशान दिखाती हुई बोली। इसके बाद जिंदा रहूं कि न रहूं। एक बार और वोट डालने के मिले मौके को ईश्वर का आशीर्वाद बता रही थी।

वही नई बाजार पोलिंग बूथ पर अपना मतडालने के बाद बूथ के बगल हनुमान मंदिर पर माथा टेककर अपने प्रत्याशी के जीत की मनोकामना करते हुए युवा ग्राम प्रधान ज्ञानचंद जायसवाल बबलू बताते है कि सबका साथ और क्षेत्र का विकास करने के साथ देश को तरक्की के मार्ग पर ले जाने वाली पार्टी को अपना मतदान किया हूं।

जबकि अपने जबकि ग्राम बैदरापुर के ग्राम प्रधान अपने गांव में बने पोलिंग बूथ पर सपरिवार पहुंचकर मतदान किया और घर की महिलाओं का भी मत डलवाया। यह देश की समृद्धि में हर व्यक्ति का मतदान जरूरी बताते है।

जबकि ग्राम रौनाही निवासी पूर्व प्रत्यासी हाजी फिरोज खान ‘गब्बर’ अपने छोटे भाई ब्लाक प्रमुख सोहावल फिरदौस खान के साथ गांव में बने पोलिंग बूथ पर वोट किया। इन्होंने देश में खुशहाली के साथ आपसी भाईचारा कायम रखने वाली सरकार पर अपना विश्वास जताया।

तो जिला पंचायत सदस्य रश्मि जायसवाल के पति राकेश जायसवाल अपने समर्थकों के साथ मीरपुर पोलिंग बूथ पर अपना और समर्थको का वोट डलवाकर लोकतंत्र के महाकुंभ में स्नान किया। तो ड्योढ़ी बाजार निवासी दुर्गा निषाद बैशाखी के सहारे पोलिंग बूथ पर पहुंचकर लोकतंत्र के महाकुंभ में डुबकी लगाई है।

मतदान के दिन नए युवा और बुजुर्ग मतदातओं में मतदान को लेकर भारी उत्साह दिखा। अरथर पोलिंग बूथ पर अपना वोट डालने पहुंची करीब 80 वर्षीय सरला पत्नी जगन्नाथ दुवेदी जिन्हें कान से भी कम सुनाई पड़ता है। वह वोट डालने आई और इस कामना के साथ कि ऐसी सरकार बने जो इनका गिरा पड़ा घर बनवा दे और घर के पढ़े लिखे नाती को नौकरी देने के साथ। इन्हें अपने खर्चा पानी के लिए पेंशन भी दे। इस आस के साथ लोकतंत्र की अस्था में इन्होंने डुबकी लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News