बाराबंकी : बदमाशों का कहर, पूरे परिवार को पीटा, नगदी जेवर लूटे, तीन गम्भीर घायल

बाराबंकी जिले के बदोसराय क्षेत्र में एक बार फिर बदमाशों ने कहर बरपाया। चार बदमाश के घर के अंदर घुसे और बाकी बाहर खड़े निगरानी करते रहे। बदमाशों ने घर के अंदर घुसने के बाद पूरे परिवार को लोहे की रॉड से जमकर पीटा और फिर बंधक बनाकर आराम से पूरा घर खंगाला। नगदी और जेवर बटोरने के बाद बदमाश फायरिंग करते हुए मुख्य दरवाजे से भाग निकले। सूचना पाने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस गंभीर रूप से घायल दंपत्ति समेत तीन लोगों को जिला अस्पताल भिजवाया। पुलिस रात भर नाकेबंदी में लगी रही मगर बदमाशों का कोई सुराग नहीं मिला।
घटना बदोसराय थाना क्षेत्र की बरौलिया गांव की है। इस गांव के निवासी पुत्तन सफाईकर्मी है। पुत्तन ने कुछ दिन पहले ही गांव से करीब 500 मीटर दूर सड़क के किनारे मकान बनवाया है। मकान आबादी से कुछ दूर होने के कारण बदमाशों ने इसको निशाना बनाया। शनिवार की रात पुत्तन उसकी पत्नी सुषमा, पिता जगन्नाथ, पुत्र अमन व पुत्री प्राची गैलरी में सो रहे थे। रात करीब 11:30 बजे अचानक खटपट की आवाज सुनकर पुत्तन जाग गया। चारपाई से उठने के बाद जैसे ही आंगन में पहुंचा देखा बदमाश कमरे का ताला तोड़ रहे हैं। इस पर पुत्र ने साहस देखते हुए ललकारा और वह एक बदमाश से स्वयं भिड़ गया। लेकिन तब तक चारों बदमाश एकत्र हो गए और पुत्तन को लोहे की राड से पीटने लगे। तब तक पूरा परिवार जाग गया और फिर बदमाशों ने सभी को लोहे की रॉड से पीटना शुरू कर दिया। बदमाश तमंचा भी लिए थे जिसके कारण पूरा परिवार चाह कर भी कुछ ना कर सका और पिटता रहा। पूरे परिवार को पीटने के बाद बदमाशों ने सभी को एक जगह पर खड़ा करके बंधक बना लिया और दो बदमाश निगरानी करते रहे तथा दो बदमाश कमरों के अंदर नगदी व जेवर बटोरते रहे। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश मकान का मुख्य दरवाजा खोलकर भाग निकले। भागने से पहले उन्होंने फायर करके पीछा न करने की चेतावनी भी दी। बदमाशों के जाने के बाद जब पुत्तन ने मदद के लिए पड़ोसियों से गुहार लगाई तो लोग मौके पर पहुंचे और दंग रह गए। बदमाशों की पिटाई से पुत्तन और उसकी पत्नी तथा पिता जगन्नाथ बुरी तरह घायल थे। सिर में गंभीर चोटे आ गईं थी। आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी गई तो मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों घायलों को जिला अस्पताल भिजवाया। पुलिस रात भर बदमाशों की तलाश में छापेमारी करती रही मगर कहीं कोई सुराग नहीं मिला। इस घटना से गांव में दहशत का माहौल है। बदोसराय थानाध्यक्ष मनोज कुमार शर्मा का कहना है कि बदमाशों की संख्या 4 थी इसलिए घटना डकैती नहीं है। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि चार लोग मकान के अंदर से और कुछ लोग बाहर भी हो सकते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News