बुलंदशहर: महिला थाने में 2 महिलाओं से हैवानियत, पेनकिलर देकर पुलिसकर्मी पीड़िताओं के प्राइवेट पार्ट्स पर पहुंचाते रहे चोट

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में गोकशी की अफवाह पर फैली हिंसा के बाद कई पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी। इसके बाद भी यहां के पुलिसकर्मी सुधरने को तैयार नहीं है। यहां की महिला थाना इंचार्ज पर दो महिलाओं को दो दिनों तक अवैध हिरासत में रखकर थर्ड डिग्री देने का आरोप लगा है।

पुलिसकर्मियों ने प्राइवेट पार्ट पर पहुंचाई चोट

सूत्रों ने बताया कि एक लड़की किसी युवक के साथ फरार हो गई थी। इस मामले में आरोपी युवक को पुलिस ने जेल भेज दिया। बताया जा रहा है कि फरार होने वाली लड़की महिला थाना प्रभारी रजनी चौधरी की भतीजी है। वहीं, पीड़िताओं का आरोप है कि महिला थाना प्रभारी रजनी चौधरी ने दोनों को बुरी तरह पीटा।

महिला थाना प्रभारी रजनी चौधरी ने अनूपशहर थाना क्षेत्र के पंचगई गांव में पहुंचकर दो महिलाओं को जबरन जीप में बैठाया और दोनों को थाने ले आईं। इस दौरान दोनों महिलाओं को अवैध हिरासत में रखकर थर्ड डिग्री दी गई। महिलाओं का आरोप है कि थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों ने दोनों महिलाओं के प्राइवेट पार्ट्स पर भी चोट पहुंचाई है। इस दौरान जब महिलाएं दर्द से तड़पती तो उन्हें दर्द की दवा खिलाकर फिर से उनके साथ हैवानियत की गई।

एएसपी प्रमोद कुमार ने महिलाओं को छुड़वाया

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जब इस बात की जानकारी एएसपी प्रमोद कुमार को लगी तो उन्होंने महिला थाने पहुंचकर दोनों पीड़िताओं को छुड़वाया। इसके साथ ही एएसपी ने महिला थाना प्रभारी के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं, गुरुवार को पीड़ित परिवार एसएसपी कार्यालय पहुंचा और पूरी बात बताई

पीड़ितों का कहना है कि महिला थाना प्रभारी रजनी चौधरी ने दोनों को छोड़ने के लिए रुपयों की मांग की थी लेकिन जब रुपए नहीं दिए गए तो महिला थाना प्रभारी ने उन्हें थर्ड डिग्री दी। वहीं, मामले की जानकारी देते हुए एसपी देहात मनीष मिश्र ने बताया कि पूरा मामला उनके संज्ञान में है, मामले की जांच की जा रही है, जो भी पुलिस कर्मी दोषी पाया जाएगा, उस पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News